जबलपुर। अध्यापक प्रकोष्ठ के मुकेश सिंह ने बताया कि एक साल गुजरने के बावजूद अब तक युक्तियुक्तकरण की प्रक्रिया पूर्ण नहीं हो सकी है। डीईओ कार्यालय की लचर-पचर व्यवस्था से अतिशेष अध्यापक परेशान हैं।

समयमान वेतन के प्रकरणों का समाधान हो- मध्यप्रदेश राज्य कर्मचारी संघ के जिला सचिव अनिल निगम ने बताया कि लोक निर्माण विभाग के कर्मचारियों को समयमान वेतन स्वीकृति के प्रकरण अनुमोदन के लिए फरवरी माह से मुख्य अभियंता लोक निर्माण विभाग जबलपुर के कार्यालय में लंबित पड़े हैं। यदि शीघ्र समाधान नहीं हुआ तो आंदोलन होगा।

मुख्यमंत्री को किया फैक्स- मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के संभागीय उपाध्यक्ष रामशंकर शुक्ला ने बताया कि सहायक शिक्षकों के पदनाम परिवर्तन की मांग को लेकर मुख्यमंत्री को फैक्स कर दिया गया है।

दोबारा तबादला दुर्भाग्यजनक- सुरक्षा कर्मचारी यूनियन खमरिया के दरबान वजीर खान का दोबारा स्थानांतरित किए जाने से कर्मचारियों में आक्रोश व्याप्त है। कर्मचारी नेताओं ने जारी विज्ञप्ति में कहा कि वजीर खान की पत्नी गंभीर रूप से बीमार है। इसके बावजूद नीति विरुद्घ तबादला समझ के परे है।