जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज में एमटेक के होनहार विद्यार्थी मंगलवार को सम्मान के लिए तरस गए। जेईसी एल्युमिनाई एसोसिएशन के कार्यक्रम में बीई स्टूडेंट को शामिल किया गया लेकिन एमटेक के दावेदारों का नाम नहीं आया। इस बात से खफा कई छात्रों ने दावेदारी के लिए प्राचार्य से संपर्क भी किया, लेकिन बात नहीं बनी। इधर प्रबंधन ने कहा कि एल्युमिनाई एसोसिएशन ने एमटेक विद्यार्थियों को सूची में नहीं शामिल किया है। हालांकि आगे से इसमें बदलाव का दावा भी किया।

ये है मामला-

- बीई की अलग-अलग ब्रांच में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को एल्युमिनाई एसोसिएशन मेडल देता है। इसमें कई श्रेणी है। एमटेक के विद्यार्थियों में भी श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थी मेडल के लिए दावेदारी करते रहे। प्राचार्य ने कई दफा इसको लेकर संपर्क हुआ। छात्रों ने बताया कि एमटेक के कई छात्र राष्ट्रीय स्तर पर श्रेष्ठ प्रदर्शन कर चुके हैं।

एसोसिएशन की फीस क्यों-

पीड़ित छात्रों ने कहा कि जब एल्युमिनाई एसोसिएशन ने एमटेक के विद्यार्थियों को शामिल नहीं किया तो फिर हर छात्र से 500 रुपए शुल्क क्यों लिया जाता है। छात्रों ने बताया कि फीस के अलावा एल्युमिनाई एसोसिएशन के फंड में जमा करने 500 रुपए शुल्क लिया जाता है।

.....

वर्जन....

सम्मान समारोह जेईसी एल्युमिनाई एसोसिएशन आयोजित करता है। चार साल से एमई के विद्यार्थियों को मेडल देने की परम्परा बंद है। कई शिकायतें आईं कि एमई तीसरे सेमेस्टर में मेडल लेने के बाद कई विद्यार्थी डिग्री अधूरी छोड़कर निकल जाते थे। आगामी सत्र से चतुर्थ सेमेस्टर में मेडल दिया जाएगा।

डॉ.एसएस ठाकुर, प्राचार्य जेईसी