जबलपुर। मुफ्ती-ए-आजम मप्र मौलाना हामिद सिद्दीकी ने कहा कि सफल जीवन के लिए बेहतर तालीम जरूरी है। बिना तालीम के सफलता हासिल नहीं की जा सकती। अंजुमन इस्मालिया वक्फ 142 साल पुराना है। जिस मैदान से मैं बोल रहा हूं। कभी इसी स्कूल में मैं पढ़ा और खेला करता था। मुफ्ती-ए-आजम रविवार को अंजुमन इस्लामिया वक्फ के 142 वें स्थापना दिवस पर मुख्य अतिथि की आसंदी से बोल रहे थे। उन्होंने शिक्षा को सबसे अहम बताया।

उपाध्यक्ष पिछड़ा वर्ग अल्प संख्यक वित्त विकास निगम एसके मुद्दीन ने कहा कि जो मुस्लिम बच्चे पढ़ाई-लिखाई छोड़ मेहनती कार्य कर रोजी-रोटी कमाने में विवश हैं उन्हें भी शिक्षित किया जाना जरूरी है। अंजुमन इस्लामिया वक्फ शिक्षा के प्रति संवेदनशील है। अंजुमन इस्मालिया वक्फ के जबलपुर अध्यक्ष अनवर हुसैन ने वक्फ के 142 साल के गौरवमयी इतिहास पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर अल्प संख्यक आयोग के अध्यक्ष नियाज अहमद, गुरु गोविंद सिंह एजुकेशन सोसायटी के प्रबंधक गुरुदेव सिंह रील, भाजपा नगर अध्यक्ष जीएस ठाकुर, मनोनीत विधायक एलबी लोबो ने भी वक्फ द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना की। इस मौके पर वक्फ के सदस्य नसीब बेग, कादिर जमाल, मकसूद खान, एए कुरैशी, हारून जावेद, मकबूल अहमद अंसारी सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।

----------

कार्यक्रम में यह रहा खास

- कार्यक्रम का आगाज कुर्आन ख्वानी से हुआ। फिर किरत पढ़ी गई।

- परीक्षा में अव्वल आए छात्र-छात्राओं को पदक स्मृति चिन्ह और बुके देकर सम्मानित किया गया।

- सभी शाखाओं के शिक्षक,कर्मचारियों,एनसीसी कैड्ेड व सेवानिवृत्त शिक्षकों का सम्मान किया गया।

- दादा वीरेन्द्रपुरी जी नेत्र संस्थान द्वारा नेत्र शिविर का आयोजन हुआ।

----------