जबलपुर। नईदुनिया रिपोर्टर

केन्द्रीय विद्यालय 1एसटीसी जबलपुर में दो दिवसीय राष्ट्रीय एकता शिविर एक भारत श्रेष्ठ भारत 2018-2019 का समापन विद्यालय के प्राचार्य शिवकिशोर पाण्डेय के कुशल नेतृत्व व मार्गदर्शन में संपन्ना हुआ। शिविर में सात विद्यासयों के 308 प्रतिभागियों ने उत्साहपूर्वक हिस्सा लिया। दो दिनों में राष्ट्रीय एकता शिविर में विभिन्ना प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। जिनमें विभिन्ना विद्यालयों के छात्र-छात्राओं ने ऑस्ट्रेलिया व मेघालय की संस्कृति को समूह नृत्य व समूह गीत के माध्यम से प्रस्तुत किया। सामाजिक विषय पर आधारित हिंदी नाटक की शानदार प्रस्तुतियां बच्चों द्वारा दी गईं। इनके अतिरिक्त एकल नृत्य, हिंदी वाद-विवाद, हिंदी कविता पाठ, अंग्रेजी वाद-विवाद, अंग्रेजी भाषण, त्वरित चित्रकला, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता, वर्तनी प्रतियोगिता, रचनात्मक लेखन(अंग्रेजी) रचनात्मक लेखन(हिन्दी),एकल गीत व संस्कृत श्लोक वाचन प्रतियोगिताओं को आयोजित किया गया। इस अवसर पर स्वच्छ भारत मिशन, स्वतंत्रता संग्राम में महिलाओं की भूमिका व शिक्षा-सामाजिक परिवर्तन का एक अभिन्ना अंग विषय पर प्रादर्श प्रस्तुत किए गए। दो दिवसीय राष्ट्रीय एकता शिविर में आयोजित विभिन्ना प्रतियोगिताओं का अवलोकन पर्यवेक्षक केवि सीएमएम के प्राचार्य संजय कुमार नामदेव द्वारा किया गया। प्रतियोगिताओं में चयनित प्रतिभागियों को संभागीय स्तर की प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने का अवसर मिलेगा।

ये रहे विजेता

नृत्य में प्रथम स्थान केवि गढ़ा, द्वितीय केवि नरसिंहपुर, तृतीय स्थान केवि 1एसटीसी(प्रथम पाली) ने प्राप्त किया। समूह गीत में प्रथम स्थान केवि 1एसटीसी (द्वितीय पाली), द्वितीय स्थान केवि मंडला व तृतीय स्थान केवि 1एसटीसी(प्रथम पाली)। हिन्दी नाटक में प्रथम स्थान केवि गढ़ा, द्वितीय केवि टीएफआरआई व तृतीय स्थान केवि नरसिंहपुर ने अर्जित किया।

स्टूडेंट्स ने सांझा किए अपने अनुभव

समापन समारोह में मुख्य अतिथि व पर्यवेक्षक के पद पर पदस्थ व केवि सीएमएम के प्राचार्य संजय कुमार नामदेव रहे। इस अवसर पर केवि पचमढ़ी से रजनीश कुमार सिंघई उपस्थित रहे। केवि मंडला की छात्रा कोपल दुबे व एसके कार्तिकेय ने अनुभव सांझा करते हुए कहा कि विद्यालय में समुचित प्रबंध व संपूर्ण व्यवस्था उत्तम रही। संचालन चेतना राजेन्द्र ठाकुर ने किया। आभार प्रदर्शन वरिष्ठ शिक्षिका सुनीता केशर द्वारा किया गया। कार्यक्रम का आयोजन प्राचार्य एसके पांडेय के निर्देशन में किया गया।