जबलपुर। पटना से बेंगलोर जा रही संघमित्रा एक्सप्रेस के चार एसी कोचों से चोरों ने लाखों रुपये का सामान पार कर दिया। बताया जा रहा है कि वारदात मुगलसराय से इलाहाबाद जंक्शन के बीच रात 11: 30 से सुबह 4:30 बजे के बीच हुई है। बुधवार को जबलपुर जीआरपी ने घटना की रिपोर्ट दर्ज कर ली है। पीड़ित यात्रियों ने बताया कि चोरी गए सामान की कीमत तकरीबन 60 लाख रुपये है।

बुधवार की दोपहर साढ़े बरह बजे संघमित्रा एक्सप्रेस जबलपुर के प्लेटफार्म नं.4 पर आकर रुकी। ट्रेन के एसी कोचों में सवार यात्रियों ने बताया कि मुगलसराय से इलाहाबाद जंक्शन के बीच उनका कीमती सामान किसी ने चुरा लिया।

घटना की शिकायत इलाहाबाद जंक्शन में करने के लिए उतरे ही थे लेकिन इसी बीच ट्रेन चल पड़ी इसलिए वहां रिपोर्ट नहीं दर्ज करा सके। हालांकि मिर्जापुर, सतना, कटनी स्टेशन में रेल अधिकारियों को घटना की सूचना दी। इसके बाद ही पुलिस सक्रिय हुई और जबलपुर स्टेशन में यात्रियों के बयान दर्ज किए गए। यात्रियों ने बताया कि कोच में एक भी टीटीई नहीं था।

यह यात्री बने शिकार

एसी कोच ए-2 - वेदानंद झा, अभय कुमार, मंजू पति आरके मिश्रा

एसी कोच ए-3 - मालती देवी, मंजू पति लक्ष्मण ओझा, संतोष कुमार खरवार, प्रमिला सिंह

एसी कोच बी-2 - शिवधारी सिंह, शुभम पाण्डे, लखीनारायण मिश्रा

एसी कोच बी-3 - विधानचंद पाठक, पुष्पा पांडेय, अंजनी कुमार आदि

जीआरपी को सौंपे कोच अटेंडेंट

पीड़ित यात्रियों का आरोप है कि वारदात में चारों कोच के अटेंडेंट मिले हैं। घटना के बाद कुछ यात्रियों ने कोच अटेंडेंट से सख्ती से पूछताछ की तो उन्होंने एक लाल रंग का ट्रॉली बैग लौटा दिया। इसके बाद यात्रियों ने एसी कोच के चारों अटेंडेंटों को सतना जीआरपी के हवाले कर दिया।

कैसे होगी बेटी की काउंसिलिंग?

कोच बी-3 के यात्री अंजनी कुमार ने बताया कि बेटी प्रीतांजलि को लेकर पटना से बेंगलोर जा रहे थे, जहां उसकी काउंसिलिंग होना है। चोरी गए सूटकेसों में जरूरी डाक्यूमेंट, नकद एक लाख रुपये, साढ़े तीन लाख रुपये के डीडी रखे थे। अब समझ नहीं आ रहा कि बेटी की काउंसिलिंग कैसे होगी?

शादी के जेवर गए चोरी

पुष्पा पाण्डे ने बताया कि चोरी गए सूटकेसों में बेटे की शादी के लिए खरीदे नए कपड़ों के सेट और सोने के जेवर के साथ ही नकद 50 हजार रुपये रखे थे। शादी से पहले ही जेवरों के साथ ही सारा सामान चोरी चला गया।

जिपं अध्यक्ष भी पीड़ित

एसी कोच ए-3 में सवार प्रमिला सिंह अध्यक्ष जिला पंचायत सासाराम, जिला रोहतास बिहार भी पीड़ितों में शामिल हैं। सीट नं. 19-20 पर यात्रा कर रही श्रीमती सिंह के दो ट्रॉली बैग, लेडीज पर्स चोरी गया। जिसमें कीमती कपड़े, डाक्यूमेंट, पेनकार्ड, पास बुक सहित नकद 72 हजार रुपये रखे थे।