जबलपुर। गोंडवाना साम्राज्य के अमर शहीद शंकरशाह, रघुनाथ शाह का बलिदान देश की आजादी के समान अधिकार और जल, जंगल, जमीन की सुरक्षा के लिए हुआ था। आजादी के 72 वर्ष बाद भी समान अधिकार गरीब, शोषित लोगों को नहीं मिल रहा है। इस संबंध में बलिदान दिवस पर संयुक्त आदिवासी समिति द्वारा भारत सरकार को ज्ञापन सौंपा जाएगा। इस आशय की जानकारी रविवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में समिति के अध्यक्ष नन्हेलाल धुर्वे ने दी। उन्होंने बताया कि बलिदान दिवस पर विभिन्न आदिवासी संगठनों द्वारा प्रतिमा स्थल एवं बंदीगृह पहुंचकर श्रद्धा सुमन अर्पित किए जाएंगे। इस अवसर पर किशोरी लाल भलावी, रामरतन यादव, बीके चौधरी, सूरज चौधरी आदि शामिल थे।

....