झाबुआ। गायत्री गली में क्लीनिक संचालित करने वाले एक फर्जी डॉक्टर के इलाज से गांव बामनसेमलिया निवासी 4 साल के दिनेश पिता अप्पा वसुनिया की मौत हो गई। परिवार वाले बच्चे के बुखार का इलाज कराने मंगलवार को राकेश चौहान के क्लीनिक पर लाए थे।

चिकित्सक ने इंजेक्शन लगाया, दवाइयां दी। घर पहुंचकर दिनेश को घबराहट होने लगी। परिवार वाले वापस झाबुआ लाए, तब तक उसकी मौत हो गई। इसकी सूचना झाबुआ थाने पर दी।

शव का बुधवार सुबह पोस्टमार्टम कराया गया। झाबुआ शहर में ढाई महीने में फर्जी डॉक्टरों के इलाज से ये तीसरी मौत है, लेकिन कार्रवाई के नाम पर कुछ नहीं हो सका। घटना के बाद फर्जी चिकित्सक राकेश चौहान क्लीनिक पर ताला डालकर फरार हो गया। झाबुआ थाना प्रभारी केएम त्रिपाठी ने बताया कि सूचना मिली है। अभी मामला जांच में लिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आई। शॉर्ट पीएम रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज करेंगे।

इनका कहना है

घटना की सूचना मिली है। क्लीनिक और संचालक के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर पुलिस अपनी कार्रवाई करेगी।

-डॉ. डीएस चौहान, सीएमएचओ