झाबुआ। शहर में शुरू हुए इंजीनियरिंग कॉलेज का नाम पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के नाम पर रखा जाएगा। रविवार को झाबुआ में आयोजित छात्र सम्मेलन में हिस्सा लेने आए मुख्यमंत्री ने ये घोषणा की। जिले में बनने जा रहे नए मॉडल कॉलेज का नाम दिवंगत सांसद दिलीपसिंह भूरिया के नाम पर होगा।

मुख्यमंत्री ने 42 करोड़ के इंजीनियरिंग कॉलेज भवन, 12 करोड़ की लागत से बनने वाले मॉडल कॉलेज भवन सहित 135 करोड़ के विकास कार्यों का शिलान्यास रविवार को किया।

बड़ी संख्या में जिलेभर से आए स्कूल-कॉलेजों के विद्यार्थियों के बीच मुख्यमंत्री पहुंचे और उन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं में हिस्सा लेने के लिए प्रेरित किया। आईआईटी में सिलेक्ट हुए झाबुआ के हिमांशु गरवाल का उदाहरण भी दिया।

उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले पॉलिटेक्नीक के विद्यार्थियों को सम्मानित किया। उन्होंने बच्चों के सामने कई बड़ी घोषणाएं की और झाबुआ विधायक शांतिलाल बिलवाल की ज्यादातर मांगें स्वीकृत की। पेटलावद विधायक निर्मला भूरिया और थांदला विधायक कलसिंह भाबर ने भी मांग पत्र रखे। सीएम ने कहा कि जल्द ही थांदला और पेटलावद पहुंचकर वहां की घोषणाएं की जाएंगी। ये भी साफ हो गया कि उपचुनाव की आचार संहिता लगने के पहले मुख्यमंत्री जिले में और दौरे करेंगे। सीएम ने शहर में कर्मचारियों और सचिवों के समारोह में भी हिस्सा लिया।

कार्यक्रम में उच्च शिक्षा व तकनीकी शिक्षा मंत्री उमाशंकर गुप्ता, आदिम जाति कल्याण मंत्री ज्ञानसिंह, प्रभारी मंत्री अंतरसिंह आर्य, आलीराजपुर विधायक नागरसिंह चौहान, जोबट विधायक माधोसिंह डावर, रतलाम ग्रामीण विधायक मथुरालाल, सरदारपुर विधायक वेलसिंह आदि भी मौजूद थे।

ये की घोषणाएं

-इंजीनियरिंग कॉलेज का नाम डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के नाम पर होगा।

-नए मॉडल कॉलेज का नाम दिलीपसिंह भूरिया के नाम पर रखा जाएगा।

-शहर में कालिका माता मंदिर से एम-2 तक लिंक रोड के लिए 10 करोड़ स्र्पए स्वीकृत होंगे।

-शहर में ऑडिटोरियम के लिए 2 करोड़ स्र्पए देंगे।

-शहर में लाइब्रेरी बनाने के लिए डेढ़ करोड़ स्र्पए दिए जाएंगे।

-नर्मदा और माही का पानी झाबुआ तक लाने की परियोजना स्वीकृत होगी।

-साइकिल के लिए अब बच्चों को 2 हजार 400 के बजाय 3 हजार स्र्पए मिलेंगे।

-प्रतियोगी परीक्षा में सिलेक्ट होने वाले एससी-एसटी के बच्चों की फीस, होस्टल, खाने की व्यवस्था सरकार करेगी।

-रानापुर में सरकारी कॉलेज खोला जाएगा।

-देवझिरी तीर्थ पर चेक डेम के लिए 40 लाख स्वीकृत।

-झाबुआ और रानापुर में कृषि उपज मंडी के लिए डेढ़ करोड़ स्र्पए दिए जाएंगे।

-पिटोल से मलवान तक 8 किमी का नया रोड बनाया जाएगा।