Naidunia
    Sunday, December 17, 2017
    PreviousNext

    भाजपा किसान मोर्चा उपाध्यक्ष ने की 20 हजार की मजदूरी

    Published: Fri, 13 Oct 2017 05:53 PM (IST) | Updated: Fri, 13 Oct 2017 05:53 PM (IST)
    By: Editorial Team

    भाजपा किसान मोर्चा उपाध्यक्ष ने की 20 हजार की मजदूरी

    -मनरेगा में किया गया भुगतान, कहा, मैं मजदूरी नहीं कर सकता क्या

    झाबुआ। नईदुनिया प्रतिनिधि

    जीरो टॉलरेंस का दावा करने वाली भाजपा के नेता पर फर्जी तौर पर मनरेगा की मजदूरी लेने का आरोप लगा है। झकनावदा में रहने वाले भाजपा किसान मोर्चा उपाध्यक्ष मांगीलाल पडियार के नाम से 20 हजार रुपए का भुगतान निकला। उन पर आरोप है कि कूप निर्माण में मजदूरी के नाम पर उन्हें झकनावदा ग्राम पंचायत ने 2009, 2015 और 2016 में भुगतान किया। जिन किसानों के यहां हुए कूप निर्माण को लेकर भुगतान किया गया, उन किसानों ने किसी भी तरह की मजदूरी नहीं कराने की बात बताई।

    भाजपा किसान मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष और आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था झकनावदा में उपाध्यक्ष के पद पर काबिज भाजपा नेता मांगीलाल पडियार ने ग्राम पंचायत झकनावदा में एक मार्च 2009 से कपिलधारा कूप निर्माण में भूसा सोमला के कुएं के निर्माण में मजदूरी करना बताया। इतना ही नहीं, उन्होंने सुदृढ़ सड़क योजना और खेल मैदान में भी अपने परिजनों के नाम मजदूरों में दर्ज करवाए। इन सभी लोगों के जॉबकार्ड से मस्टर भरवाकर झकनावदा बैंक से राशि आहरित की गई। पूर्व में गांव के कुछ लोगों ने सुदृढ़ सड़क योजना और खेल मैदान में भ्रष्टाचार की शिकायत कलेक्टर व जिला पंचायत सीईओ से की थी। तब एसडीएम पेटलावद के नेतृत्व में जांच दल गठित किया गया था। जांच टीम की रिपोर्ट में गड़बड़ियां साबित होने के बावजूद मामले में आगे कार्रवाई नहीं हो पाई।

    मेरे यहां नहीं की मजदूरी

    जिस किसान भूरा सोमला के यहां कूप निर्माण के लिए मजदूरी का भुगतान किया गया, उसका कहना है, मेरे यहां काम करने कोई मजूदर नहीं आया। एक बार कोई कुएं की गहराई नापने जरूर आए थे।

    एफआईआर की मांग

    ग्रामीण प्रभुदयाल लछेटा, अनिल मिस्स्री ने मामले की पूरी तरह से जांच कराकर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है। इन लोगों का आरोप है कि आदिवासी ग्रामीणों के लिए चलाई गई योजना का लाभ नेता उठा रहे हैं। वो भी फर्जी तौर पर। इससे जिला प्रशासन और सरकार दोनों छवि धूमिल हो रही है।

    हम मजदूरी नहीं कर सकते क्या

    मामले में भाजपा किसान मोर्चा जिला उपाध्यक्ष मांगीलाल पडियार का कहना है, हम मजदूरी नहीं कर सकते क्या। काम किया है तो ही पैसा मिला है। दरअसल मैंने ग्राम पंचायत और इसके करीबी लोगों के भ्रष्टाचार, गलत तरीके से दुकानों का आवंटन और जमीन की हेराफेरी के मामले पकड़े और कार्रवाई कराई। इसका बदला वो मुझे इस तरह से बदनाम करके लेना चाहते हैं।

    मेरे कार्यकाल का मामला नहीं

    ग्राम पंचायत झकनावदा के सचिव भीमसिंह कटारा का कहना है, मामला मेरे समय का नहीं है। पूर्व सचिव के कार्यकाल का है।

    देखकर बताता हूं, कहकर फिर नहीं उठाया फोन

    पेटलावद जनपद पंचायत के सीईओ एएस यादव से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि देखकर बताता हूं। बाद में लगातार उनके फोन पर कॉल करने के बावजूद उन्होंने फोन नहीं उठाया। शाम को फिर से लगाया तो एक अन्य महिला कर्मचारी ने फोन उठाकर कहा कि साहब अभी व्यस्त हैं।

    और जानें :  # jhabua news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें