50 से अधिक रोगियों का निशुल्क

नेत्र परीक्षण, 6 को भेजा दाहोद

-आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट ने आयोजन का बीड़ा उठाया

झाबुआ। नईदुनिया प्रतिनिध

आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट झाबुआ द्वारा दृष्टि नेत्रालय दाहोद के सहयोग से राजवाड़ा पानी की टंकी के सामने ट्रस्ट के कार्यालय पर निशुल्क नेत्र परीक्षण तथा उपचार शिविर का आयोजन मंगलवार को किया गया। यह शिविर स्व. पांचूलालजी देशलहरा की स्मृति में रखा गया। शिविर में सुबह 10 से लेकर दोपहर 3 बजे तक 50 से अधिक रोगियों का नेत्र परीक्षण हुआ। इस दौरान 6 मोतियाबिंद के मरीज पाए जाने उनके ऑपरेशन तथा लेंस प्रत्यारोपण के लिए दृष्टि नेत्रालय दाहोद ले जाया गया।

शिविर का शुभारंभ देशलहरा परिवार से अतिशय देशलहरा, राजकुमारी देशलहरा तथा अमन देशलहरा द्वारा भगवान धनवन्तरि के चित्र पर माल्यार्पण और दीप प्रज्जवलन कर किया गया। इस अवसर पर आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष राजेश नागर, संस्थापक सचिव नीरजसिंह राठौर, मेनेजिंग ट्रस्टी यशवंत भंडारी, सेवा प्रकल्प परामर्शदाता सुधीरसिंह कुशवाह, सेवा प्रकल्प सचिव सुनील चौहान, कोषाध्यक्ष पं. द्विजेन्द्र व्यास उपस्थित थे। बाद में शिविर प्रारंभ हुआ। जिसमें रोगियों के रजिस्ट्रेशन संबंधी कार्य कुंता सोनी तथा सुशीला भट्ट ने किया। वहीं शिविर में अपनी सेवाएं ट्रस्ट की महिलाओं में आजीवन अध्यक्ष वंदना व्यास, सीमा चौहान, मंजुला देराश्री आदि ने दी। इस अवसर पर रोटरी क्लब मेन के पूर्व अध्यक्ष तथा वरिष्ठ रोटेरियन प्रतापसिंह सिक्का भी मौजूद थे।

दवाइयों का भी निशुल्क वितरण

शिविर में दृष्टि नेत्रालय दाहोद के चिकित्सक डॉ. दशरथभाई मालीवाड़ ने शिवरार्थियों, जिसमें महिला-पुरूष, युवा, बच्चे तथा बुजुर्गों के आंखों की जांच की गई। बाद में उन्हें उचित परामर्श दिया। साथ ही निशुल्क दवाईयों का वितरण भी शिविर स्थल पर ही किया गया। इस कार्य में सहयोग दृष्टि नेत्रालय दाहोद से आए सहयोगी मुकेश मईड़ा तथा सुरेशभाई ने प्रदान किया। शिविर सुबह 10 बजे से आरंभ होकर करीब 3 बजे तक चला। शिविर स्थल पर शिविरार्थियोंके बैठने की कुर्सियों की व्यवस्था की गई।

ऑपरेशन के लिए दाहोद भेजा

शिविर के दौरान 6 मोतियाबिंद के मरीज भी जांच में पाए गए। इसमें भूरीबेन पति गोरधन ब्रजवासी, भूराबाई पति बाथु भूरिया, शांतिबाई पति रंजनसिंह तथा उनके पति रंजनसिंह पिता सीताराम, मंगीबाई पति रूपाजी गवली तथा मानसिंह पिता पन्नाालाल सिसौदिया को मोतियाबिंद होने पर उन्हें दृष्टि नेत्रालय दाहोद से आई टीम द्वारा अपने वाहन से ऑपरेशन हेतु दाहोद ले जाने की सुविधा प्रदान की गई। सहयोगी मुकेश मईड़ा ने बताया कि दाहोद में इनका ऑपरेशन निशुल्क किए जाने के साथ ही लेंस प्रत्यारोपण भी निशुल्क किया जाएगा। इसके साथ ही इनके वहां रहने और भोजन की व्यवस्था भी चिकित्सालय प्रबंधन की ओर से की जाएगी। आसरा ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष राजेश नागर ने बताया कि उक्त शिविर की सफलता को देखते हुए आगामी दिनों से दृष्टि नेत्रालय दाहोद का आंखों की जांच हेतु एक ओर शिविर आगामी दिनों में होमगार्ड कार्यालय मिंडल में लगाया जाएगा।

17 जेएचए 02 - नेत्र शिविर का शुभारंभ करते हुए अतिथि।