फर्स्ट लीड.....

-जहां-तहां गंदगी : अब अभियान चलाकर सफाई करवाने की आवश्यकता-

राजपूत समाज के युवाओं ने बड़े

तालाब के किनारों की सफाई की

झाबुआ। नईदुनिया प्रतिनिधि

राजपूत समाज के युवाओं ने रविवार को बड़े तालाब किनारे मोगली गार्डन के आसपास सफाई अभियान सुबह 8 से साढ़े 9 बजे तक चलाया। किनारे पर पसरी गंदगी को युवाओं ने भरकर ट्रैक्टर-ट्रॉली के माध्यम से फिकवाया। युवाओं का कहना है कि बड़े व छोटे तालाबों की सफाई होना चाहिए, क्योंकि तालाबों के पानी का जल स्तर कम हो गया है और किनारों पर गंदगी पसरी पड़ी है। मानसून के आने के पूर्व अगर सफाई हो जाए तो तालाबों में संग्रहित होने वाला पानी स्वच्छ बना रहेगा।

लंबे समय से तालाबों की सफाई को लेकर मांग की जा रही है लेकिन कोई निजी संस्था आगे नहीं आ रही थी। रविवार को राजपूर समाज के युवाओं ने पहल करते हुए सफाई अभियान चलाया। उन्होने मोगली गार्डन के समीप पसरी गंदगी को एकत्रित कर ट्रेक्टर के माध्यम से फिंकवाया। अभियान में रविन्द्रसिंह सिसौदिया, विजयसिंह गेहलोत, रविराजसिंह राठौर, ब्रजकिशोर सिकरवार, शक्ति देवड़ा, अभिजीतसिंह बेस, आशुतोषसिंह सिसौदिया, रवि प्रताप, नरेन्द्र सौलंकी, उपस्थित थे। इस अवसर पर विशेष रूप से वार्ड नंबर एक के पार्षद ने भी सफाई अभियान में उपस्थित होकर युवाओं का सहयोग किया।

सफाई से स्वच्छ बना रहेगा पानी

शहर में तीन तालाब है। छोटा तालाब, बड़ा तालाब तथा मेहता जी का तालाब। तीनों ही तालाबों में गंदगी का जमकर बोल-बाला है। जल स्तर कम होने से किनारों में गंदगी का साम्राज्य एकत्रित हो चुका है। मानसून आने के पूर्व अगर तालाबों की सफाई करवा दी जाए तो बारिश में एकत्रित होने वाला पानी स्वच्छ बना रहेगा। नगर पालिका को अभियान चलाकर यह कार्य करना चाहिए। इसके साथ ही तालाबों के किनारों का गहरीकरण भी फिलहाल किया जा सकता है क्योंकि जल स्तर कम होने के कारण अभी जेसीबी व अन्य मशीनें तालाब में उतारी जा सकती है।

बनाई है योजना

वार्ड क्रमांक एक के पार्षद पपीश पानेरी का कहना है कि राजपूत समाज के युवाओं ने रविवार को अच्छी पहल करते हुए तालाब सफाई के अभियान की शुरूआत की है। वे योजना बना रहे है। तालाब की सफाई मानसून आने के पूर्व हो जाए। ताकि पानी स्वच्छ बना रहे। तालाब के किनारों का गहरीकरण करने के लिए वे नगरपालिका सीएमओ से चर्चा करेंगे। जन सहयोग से तालाबों की गंदगी हटाने का अभियान भी चलाया जाएगा।

सर्किट हाउस के समीप ही गंदगी

बड़े तालाब से सटा सर्किट हाउस है और यहां पर अक्सर बड़े अधिकारी व नेताओं का आवागमन बना रहता है। किसी भी अधिकारी व नेता को तालाब किनारे पसरी गंदगी पर ध्यान नहीं जाता। अक्सर यहां अधिकारी व नेता लोग आते-जाते रहते है लेकिन इस ओर किसी भी बड़े अधिकारी ने ध्यान नहीं दिया है जबकि मानसून आने के पूर्व यह कार्य करवाया जा सकता है।

16 जेएचए 14 - झाबुआ में बड़े तालाब के किनारे जहां-तहां पसरी है गंदगी। -नईदुनिया

16 जेएचए 16 - राजपूत समाज के युवाओं ने स्वच्छता अभियान चलाते हुए रविवार को बड़े तालाब के आसपास सफाई की। नईदुनिया