बबीना । नईदुनिया न्यूज

नगर से 5 कि मी दूर बनी इंडोगल्फ

फैक्ट्री में फिर ताला डल सकता है। बतातें चले कि 18 वर्षों से बकाया कि मजदूरों का मानदेय नहीं दिया गया। जिससे 117 परिवारों की एक बार फिर उम्मीदर टूट गई। 18 वर्षों से इंडोगल्फ

फैक्ट्री के मजदूरों का मामला सुलझने का नाम नहीं ले रहा है। सिर्फ झूठी तसल्ली देकर बार-बार इंडोगल्फ के मजदूरों को हताशा ही हाथ लगती है, लेकि न जब जिला प्रशासन के आदेश पर विगत दिनों में दो दिन पूर्व राजस्व विभाग की टीम द्वारा इंडोगल्फ में कु ड़की के लिए टीम पहुंची तो इंडोगल्फ के मैनेजमेंट को घुटने टेकने पर मजबूर होना पड़ा। राजस्व विभाग की टीम ने ताले को जड़ने की कोशिश की तो उन्होंने पैसे जमा करने के लिए एक महिने का समय मांगा, लेकि न तहसीलदार ने सिर्फ 15 दिन का ही समय दिया। उन्होंने कहा कि 15 दिन तक अगर 1 करोड़ तेरासी लाख की धन राशि मजदूरों को नहीं दी गई तो फैक्ट्री में ताले डाल दिए जाएंगे। मजदूरों ने जानकारी देते हुए बताया कि हम सभी मजदूरों को अगर 15 दिन के बाद हमारा भुगतान नहीं मिला तो अब चुप नहीं बैठेंगे। यूनियन के महामंत्री मुन्नालाल ने कहा अगर भुगतान नहीं हुआ तो सख्त से सख्त कदम उठाया जाएगा। इस मौके पर पीपी यादव, इमरत पाल, वाहिद खान, देवी सिह आदि मौजूद रहे।

फोटो- 12 जनवरी 02

फे क्ट्री के खिलाफ प्रदर्शन करते मजदूर।