कटनी, फरीदाबाद। मध्य प्रदेश के कटनी जिले की मूल निवासी और अब यूक्रेन में डॉक्टरी की पढ़ाई कर रही हेमलता ने अपनी मां रेखा पटेल को किडनी दान कर नया जीवन दिया है। मां रेखा के लिए यह एक तरह से बेटी की ओर से मातृ दिवस का उपहार है। रेखा का किडनी प्रत्यारोपण किया गया। डोनर और मरीज दोनों फिलहाल स्वस्थ हैं।

शुक्रवार को फोर्टिस एस्कॉटर्स अस्पताल में डॉ.हरदीप सिह के साथ गौरवान्वित मां 42 वर्षीय रेखा पटेल ने भावुक होते हुए 24 वर्षीय बेटी हेमलता के साहस की गाथा बताई। रेखा इलाज के लिए फरीदाबाद (हरियाणा) में अपने बेटे के पास ठहरी हुई थीं।

डॉ. हरदीप ने बताया कि रेखा काफी समय से हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी की शिकार थी और वह पिछले कई वर्षों से किडनी की गंभीर बीमारी से पीड़ित रही थीं, जिसके कारण धीरे-धीरे उनकी किडनी पूरी तरह खराब हो गई। उनके सेहतमंद बने रहने के लिए किडनी प्रत्यारोपण ही एकमात्र उपाय था।

विदेश में पढ़ रही उनकी बेटी हेमलता को जब इसकी जानकारी मिली तो उसने तत्काल वापस आकर अपनी किडनी दान करने का निर्णय लिया। रेखा से जब उसकी बेटी के इस साहसी कदम के बारे में पूछा गया, तो वह अपने आंसू रोक न सकीं। रेखा के मुताबिक उनकी बेटी ने उन्हें नया जीवन दिया है।

उन्होंने कहा कि एक महीने तक मैं हेमलता से लड़ती रही कि तू मुझे किडनी मत दे, तेरी शादी में बहुत दिक्कतें आएंगी, पर वह अपने फैसले पर अडिग रही। वहीं हेमलता के छोटे भाई जय ने कहा कि बड़ी बहन ने मां को नया जीवन देकर मातृ दिवस पर एक उपहार दिया है। इस मौके पर डॉ.हरदीप सिह ने बताया कि प्रत्येक इंसान में दो किडनी होती हैं और वह एक किडनी के सहारे भी जीवन भर स्वस्थ जिदगी जी सकता है।