खंडवा, नईदुनिया प्रतिनिधि। श्रीधूनीवाले दादाजी की समाधि आधुनिक पार्क के फूलों से महकेगी। पार्क बनाने के लिए आश्रम में भूमि का चयन कर लिया गया है। यहां गुलाब, सेवंती और अन्य प्रजाति के फूलों के पौधे लगाए जाएंगे। श्रीदादाजी आश्रम ट्रस्ट ने इस दिशा में काम शुरू कर दिया है।

श्रीकेशवानंद महाराज (बड़े दादाजी) और हरिहरानंद महाराज (छोटे दादाजी) की समाधि पर फूलों की व्यवस्था के लिए आश्रम में करीब पांच लाख रुपए की लागत से पार्क बनाया जाएगा। इस पार्क में विशेष रूप से फूलों के पौधे ही रोपे जाएंगे। मंदिर ट्रस्ट द्वारा पार्क के लिए गौशाला के सामने एक एकड़ की जमीन पार्क के लिए चिन्हित की गई है।

फिलहाल यहां काम शुरू होने में दो महीने का समय लगेगा। ट्रस्ट से मिली जानकारी के अनुसार पार्क तैयार करने के लिए अनुभवी बागबान से संपर्क कर लिया गया है। पौधों का इंतजाम भी बागबान द्वारा ही किया जाएगा। हाल ही में ट्रस्ट के पदाधिकारियों द्वारा शहर की एक स्कूल में आधुनिक रूप से विकसित बगीचे का मुआयना भी किया गया था। इसके बाद आश्रम में भी इसी तरह के पार्क को विकसित करने का निर्णय लिया गया।

बाजार से नहीं खरीदे जाते फूल

श्रीदादाजी आश्रम में प्रतिदिन समाधियों को फूलों से सजाया जाता है। फूल बाजार से नहीं खरीदे जाते। आश्रम में करीब वर्षों पुराना बगीचा है जहां से सेवादार सुबह और शाम को फूल तोड़कर लाते हैं। इसके अलावा हिंदू बाल सेवा सदन और पटेल सेवा समिति की ओर से भी फूल अर्पित किए जाते हैं। आश्रम में करीब 12 एकड़ भूमि पर खेती भी होती है।

मंदिर निर्माण का काम जारी

आश्रम में 108 खंभों के मंदिर निर्माण का काम जारी है। मंदिर पांच चरणों में तैयार होगा। पहले चरण में 20 खंभे लगाए जाएंगे। खंभे लगाने के लिए चार स्थानों पर खुदाई हो चुकी है। एक स्थान पर तो खंभे के लिए कॉलम भी तैयार हो गया है। मंदिर निर्माण राजस्थान के हिंडौन की खदान से निकलने वाले गुलाबी पत्थरों से होगा।