- कलेक्टर ने अधिकारियों को दिए निर्देश

खंडवा। आगामी महीनों में वर्षा ऋतु में अतिवृष्टि एवं बाढ़ से जो गांव पूर्व से प्रभावित होते रहे है उन गांवों में बाढ़ पीड़ितों को राहत देने के लिए आवश्यक कार्य योजना तैयार करें तथा बाढ़ से उत्पन्ना स्थिति से निपटने के लिए सभी आवश्यक तैयारियां अभी से कर लें। डूब प्रभावित ग्रामों में ग्रामीणों को वर्षा से पूर्व सचेत कर दें।

यह निर्देश कलेक्टर विशेष गढ़पाले ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित साप्ताहिक समीक्षा बैठक में उपस्थित सभी एसडीएम, तहसीलदार, जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी व नगरीय निकायों के अधिकारियों को दिए। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डीके नागेंद्र सहित विभिन्ना अधिकारी मौजूद थे। बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिए किअति वर्षा के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में शुद्घ पेयजल की समस्या उत्पन्ना हो जाती है, पेयजल का क्लोरिनेशन कराने की व्यवस्था की जाएं। जिन स्थानों पर डूब प्रभावित क्षेत्रों के ग्रामीणों को ठहराया जाएगा, ऐसे आश्रय स्थलों में पीड़ित परिवारों के रुकने व खाने की व्यवस्था के लिए कार्ययोजना बनाई जाएं। उन्होंने होमगार्ड के जिला कमांडेंट को वर्षा ऋतु से पहले ही नाव, मोटर बोट, गोताखोर, रस्से आदि तैयार रखने के लिए कहा।

कलेक्टर ने जिला आपूर्ति अधिकारी को निर्देश दिए किवर्षा ऋतु में पहुंच विहीन हो जाने वाले ग्रामों में खाद्य सामग्री के अग्रिम भंडारण की व्यवस्था की जाएं। साथ ही मुख्य चिकित्सा अधिकारी को उन्होंने निर्देश दिए किदूरस्थ व पहुंच विहीन आशा कार्यकर्ताओं के पास जीवन रक्षाओं के दवाओं की अग्रिम व्यवस्था भी की जाएं। उन्होंने महाप्रबंधक ग्रामीण सड़क विकास प्राधिकरण को निर्देश दिए किवर्षा से पूर्व ग्रामीण क्षेत्र में सड़कों, पुल पुलियाओं व नाली निर्माण के अधूरे कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण करें ताकि ग्रामीणों को परेशानी न हो।