जिले में लगातार चौथे दिन बारिश का क्रम बना रहा। रिमझिम व तेज बारिश के साथ चल रही हवाओं से फसलें जमींदोज हो रही हैं। ईंट व्यवसाय को भी नुकसान पहुंच रहा है। शुक्रवार को कई क्षेत्रों में बारिश हुई। सिरवेल व भग्यापुर में चने के आकार के ओले गिरे। इधर जिले के देवित में बिजली गिरने से युवक की मौत हो गई।

सनावद। मौसम के बदले मिजाज से जनजीवन प्रभावित हो रहा है। सुबह 6ः30 से 11 बजे तक रुक-रुककर बारिश हुई। दोपहर 2 बजे बाद बादल हटे और धूप खिल गई। ठंडी हवाएं चलने से मौसम के फिर बिगड़ने की आशंका में किसानों और ईंट व्यवसायियों में चिंता व्याप्त है। लगातार बारिश से गेहूं फसल की कटाई का कार्य प्रभावित हो रहा है।

भीकनगांव। नगर व आसपास दोपहर में लगभग आधा घंटा बारिश हुई। इससे फसलों को नुकसान हुआ। शकरगांव के भुवानीराम प्रजापत ने बताया कि दो एकड़ में लगी मक्का बिछ गई। ग्राम मालखेड़ा के नारायण शर्मा ने बताया कि दो दिन पहले काटकर रखे गेहूं खराब हो गए। कई किसानों की फसलें जमींदोज हो गई।

भगवानपुरा। गुरुवार रात हल्की बारिश होने के बाद शुक्रवार सुबह 8ः30 बजे से 20 मिनट बारिश हुई। इसके पूर्व भी दो दिन बारिश होने से फसलों को नुकसान हो रहा है। क्षेत्र के ग्रामों से भी बारिश के समाचार है। सिरवेल में मक्का व भग्यापुर में चने के आकार के ओले भी गिरे।

शिवना। शुक्रवार को फिर बारिश हुई। इससे रबी फसलों को खासा नुकसान हुआ। उपज कम आने व भाव नहीं मिलने की आशंका है। इधर ग्राम देवित बुजुर्ग में आकाशीय बिजली गिरने से लालसिंह सवकारिया (30) की मौत हो गई। ग्राम अदरला निवासी यह युवक गेहूं काटने देवित आया था। ग्राम देवित से मोरवा जाने के दौरान बारिश शुरू होने पर यह पेड़ के नीचे जा खड़ा हुआ। दोपहर 12 बजे आकाशीय बिजली गिरी और यह उसकी चपेट में आ गया। पुलिस ने पंचनामा बनाया।

बड़वाह। पिछले दो दिनों से रुक-रुककर हो रही बारिश से फसलों को नुकसान हुआ है। शुक्रवार की सुबह 10 मिनट तेज बारिश के बाद रूक-रूककर रिमझिम बारिश होती रही। नपा प्रांगण में लगने वाला साप्ताहिक हाट प्रभावित हुआ। ग्राम रतनपुर के किशोर खंडाला व संजय परिहार ने मावठे से गेहूं की गुणवत्ता प्रभावित होने से भाव पर असर पड़ेगा। शिव बर्फा ने कहा कि बार-बार की बारिश ने बदहाली के दौर में पहुंचा दिया। तहसीलदार संजय शर्मा ने कहा कि पटवारियों को नुकसानी के सर्वे के निर्देश दिए हैं। आकलन के बाद मुआवजा दिया जाएगा।

महेश्वर। तीन दिन से बिगड़े मौसम से अन्नदाता परेशान है। एक ओर जहां खेतों में खड़ी फसल को बारिश की मार से नुकसान हुआ है, वहीं कटाई कर निकाले जानी वाली उपज के भी खराब होने की आशंका है। तहसीलदार सुदीप मीणा ने बताया कि पटवारियों को अपने-अपने क्षेत्रों में घूमने के निर्देश दिए है।

सेगांव। शुक्रवार सुबह 10 से 11 बजे तक तेज हवा के साथ बारिश हुई। बाजार में अफरा-तफ री का माहौल रहा। साप्ताहिक हाट पर भी विपरित असर पड़ा। किसानों की फसलें प्रभावित होने की भी खबर है।

मंडलेश्वर। लगातार तीसरे दिन शुक्रवार की सुबह बूंदाबांदी हुई। इसके बाद सुबह 11 बजे भी आधा घंटा बारिश हुई। बारिश से फसलों को नुकसान हुआ, वहीं ठंड का अहसास होने लगा। दोपहर बाद धूप खिल गई। -निप्र