कोतमा।

नगर में नोटबंदी की याद एक बार फिर से ताजा हो गई। क्षेत्र में लगे एक दर्जन से ज्यादा एटीएम कई दिनों से कैशलेस चल रहे हैं। जिससे व्यापारी एवं नागरिक हलाकान हो रहे हैं। कई दिनों से कैश की कमी के कारण जहां बैंकों में उपभोक्ताओं को पर्याप्त राशि नही मिल पा रही वहीं जगह-जगह लगे एटीएम सूखे की चपेट में चल रहे हैं। आम जनता अपने आवश्यक काम रुपए के अभाव में नहीं कर पा रही है। किसी एटीएम बूथ में प्रबंधन द्वारा कैश रखा जाता है तो पहले से ही लम्बी लाइन में लगे लोगों को बड़ी मुश्किल से रुपए मिल पा रहे है जो कि कुछ घंटो में ही समाप्त हो जाता है। कैश की किल्लत होने से नगर के व्यापारियों एवं उपभोक्ताओं में खलबली मची हुई है। वहीं बाजार भी प्रभावित हो रहा है।

जनता अपने ही पैसे को पाने के लिए मोहताज

शादी-विवाह के सीजन होने एवं अन्य जरुरी कामो के लिए जनता अपने ही पैसे को पाने के लिए मोहताज हो रही है। विवाह वाले घरो में भी कैश न मिलने से खलबली देखी जा रही है। गर्मी में धूप में घंटों लाइन में लगने के बाद थोड़ा बहुत रुपया मिल पा रहा है। नगर के गांधी चौंक, रेलवे फाटक रोड, नगरपालिका के सामने, पुरानी बस्ती रोड, अग्रवाल प्रेटोल पंप, वार्ड 10 विकास नगर सहित अन्य एटीएम में रुपयो का अकाल कई दिनों से चल रहा है। जनता एवं व्यापारियों में बड़ा आक्रोश देखा जा रहा है।

.................

पूरे प्रदेश में कैश की कमी बनी हुई है। यथासंभव प्रयास कर उपभाक्ताओं को राशि प्रदान की जाएगी। रिजर्व बैंक से ही कम कैश प्रदान किया जा रहा है

एस के पंडया प्रबंधक एसबीआई कोतमा