भोपाल/बीना/नरसिंहपुर। नरसिंहपुर के गाडरवारा के कई गांवों में आज शाम को ओले गिरे हैं। ओलों की वजह से खेतों में सफेद बर्फ की चादर सी बिछ गई है। वहीं खेतों में कटी पड़ी गेहूं की फसल भी इस बेमौसम बरसात की वजह से भीग गई है। इससे पहले मंगलवार शाम को मध्य प्रदेश के कई जिलों में बेमौसम बारिश, आंधी और ओलों की वजह से भारी तबाही मची थी। बारिश की वजह से हुए हादसों में 16 लोगों की जान चली गई। बीना में संचालित 9 समर्थन मूल्य खरीदी केंद्रों पर रखा करीब 20 हजार क्विंटल गेंहू भीग गया है। स्टेट वेयर हाउस में संचालित खरीदी केंद्रों पर भरे पानी को पम्प लगाकर निकाला गया। सैकड़ों क्विंटल गेहूं पूरी रात पानी में डूबा रहा। लेकिन अब तक कोई अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा है। बाकी जिलों में भी समर्थन केंद्रों का यही हाल है।मध्य प्रदेश में बेमौसम हुई बरसात और ओलावृष्टि में जान गंवाने वालों को परिजनो को राज्य सरकार ने 4 लाख रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया है। वहीं मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अफसरों को फसलों को हुए नुकसान के आंकलन का निर्देश दिया है।