ग्वालियर। बुधवार रात मौसम में एक बार फिर बदलाव आ गया और रात करीब 1 बजे रिमझिम बारिश शुरू हो गई। मौसम विभाग का कहना है कि 14 व 15 फरवरी को जिले में बादल छाने के साथ- साथ बारिश व ओले गिरने की संभावना है। दिन के तापमान में गिरावट आने के साथ न्यूनतम तापमान में वृद्धि होगी।

जम्मू-कश्मीर से एक पश्चिमी विक्षोभ गुजर रहा है और पश्चिम राजस्थान में निम्न दाब का क्षेत्र विकसित हो रहा है। यह सिस्टम काफी मजबूत है, इससे राजस्थान में अच्छी बारिश होगी, लेकिन इसका असर ग्वालियर चंबल शहर पर भी रहेगा। हवा में नमी की मात्रा बढ़ने से बारिश के साथ-साथ ओले गिरने की संभावना है। मौसम बिगड़ने के संकेत बुधवार को मिल गए हैं, क्योंकि अधिकतम तापमान में गत दिवस की अपेक्षा 1.6 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी हुई है। लेकिन न्यूनतम तापमान में ज्यादा उछाल नहीं आया है, हवा भी शांत है। अधिकतम तापमान बढ़ने से दोपहर में ठंड का अहसास नहीं हुआ और लोगों को गर्म कपड़े उतारने पड़े।

दूसरी बार बिगड़ रहा मौसम

वैसे फरवरी में आसमान साफ रहता है और ठंड की विदाई शुरू हो जाती है, लेकिन इस बार फरवरी के शुरुआत में कोहरा छाया। दूसरे सप्ताह में ओलों के साथ बारिश भी हुई। तीसरे सप्ताह में भी मौसम बिगड़ रहा है। अगर बारिश के साथ ओलावृष्टि होती है तो फसलों को भारी नुकसान हो सकता है। क्योंकि सरसों के पौधों में फली लग गई है। वहीं गेंहू में बालियां निकलना शुरू हो गई हैं। ऐसी स्थिति में ओले गिरते हैं तो फसलें बेकार हो सकती हैं।

आगे ऐसा रह सकता है मौसम

मौसम केन्द्र प्रभारी उमाशंकर चौकसे के अनुसार 14 व 15 फरवरी को बादल छाने के साथ- साथ बारिश व ओले गिरने की संभावना है।