घुघरी। थानांतर्गत 9 अप्रैल की रात हुई करीब 4 लाख की चोरी का खुलासा करने में पुलिस को सफलता मिली है। इस चोरी की वारदात को अंजाम देने में एक नाबालिग भी शामिल था। पुलिस ने नाबालिग सहित दो अन्य आरोपियों को पकड़कर न्यायालय में पेश किया।

बस स्टेण्ड में नर्मदा प्रसाद साहू की थोक गल्ला दुकान से 9 अप्रैल की रात दीवार में छेद कर करीब 4 लाख की चोरी हो गई थी। आरोपियों के नाम चीता मरावी 18 वर्ष और समर लाल आया 25 वर्ष निवासी गिरजा घाट व एक अन्य नाबालिग बताए गए हैं।

चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले एक आरोपी ने चोरी के रूपयों से एक नई बाइक खरीद ली थी। पुलिस को मुखबिर की सूचना मिली कि 3 किमी दूर छिवलाटोला में एक युवक नई बाइक से घूम रहा है। जिस पर पुलिस टीम मौके पर पहुंची और उक्त युवक से बाइक के कागजात मांगे, जिसे वह नहीं दिखा सका। सख्ती से पूछताछ करने पर उसने जुर्म कबूल लिया।

इस तरह किया रुपयों का बंटवारा-

चोरी के इन रूपयों से समर लाल को 80 हजार रुपए दिए, जिसमें से समर ने 60,000 रुपए की नई बाइक खरीदी थी जिसे कुछ दिनों के लिए चलाने के लिए चीता ने अपने पास रख लिया था। यही नहीं चोरी में शामिल एक नाबालिग को 6 हजार रुपए दिए बाकि के रुपए चीता मरावी ने अपने पास रख लिए। चीता के पास से पुलिस ने 2,13000 व 60,000 रुपए की नई बाइक, समर लाल के पास से नगद 19,000 व नाबालिग से 6000 रुपए बरामद कर लिए हैं। शेष रकम खर्च कर दी गई है।

कार्रवाई में ये रहे शामिल-

लाखों की चोरी पकड़ने के लिए पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में विशेष टीम गठित की गई थी। जिसमें घुघरी थाना प्रभारी सीके सिरामे, उप निरीक्षक राघवेन्द्र तिवारी, प्रआ ढोलूराम मरावी, आरक्षक कृष्ण कुमार सेन, उमाकांत कुमरे, गणेश मरावी, चालक प्रआ राजा ठाकुर, सैनिक पवन सोनवानी, दानसाय, ग्राम रक्षा समिति के सदस्य विकास दीक्षित, मनीष चौधरी, नंद किशोर पाण्डे शामिल रहे।

आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया है जहां उन्हें जेल भेज दिया गया है। नाबालिग को बाल संप्रेक्षण गृह भेज दिया गया है। -सीके सिरामे, थाना प्रभारी, घुघरी।