मंडला। कान्हा नेशनल पार्क और सिवनी में दो बाघिन की मौत हो गई है। कान्हा की बाघिन का सिर्फ सिर और पैर मिला है, जबकि सिवनी की बाघिन शरीर पूरी तर सड़ चुका है।

कान्हा नेशनल पार्क प्रबंधन के अनुसार कान्हा नेशनल पार्क के किसली रेंज में टी-56 बाघ का क्षेत्र है। यहां पर टी-83 बाघिन दो दिन से देखी जा रही थी। शुक्रवार रात को बाघिन को बाघ ने मार दिया और इसका शव भी खा लिया। बाघिन का सिर्फ पैर तथा सिर ही बचा था। इसकी जानकारी पर्यटकों ने शनिवार शाम पार्क से लौटकर खटिया गेट पर दी। इसके बाद प्रबंधन हरकत में आया और मृतक बाघिन की पहचान टी-83 के रूप में की। बाघिन के बचे अवशेषों का दाह संस्कार रविवार सुबह किया जाएगा।

चार दिन पुराना बाघिन का शव

उधर, वन विकास निगम (बरघाट प्रोजेक्ट) के जंगल में सुबह वन अमले को चार दिन पुराना बाघिन का शव मिला। पूरी तरह सड़ चुके बाघिन के जबड़े से दांत और चारों पैर के पंजे गायब हैं। बाघिन का शिकार करंट लगाकर किया गया या फिर जहर देकर इसका खुलासा फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट के बाद ही हो सकेगा। बाघिन की उम्र करीब 5 साल बताई जा रही है।