Naidunia
    Sunday, December 17, 2017
    PreviousNext

    चंबल नदी पर नए पुल के लिए सेतु विकास निगम कराएगा हाइटेक सर्वे

    Published: Fri, 13 Oct 2017 06:07 PM (IST) | Updated: Fri, 13 Oct 2017 06:07 PM (IST)
    By: Editorial Team

    मंदसौर। नईदुनिया प्रतिनिधि

    जिले के चंबल पार के हिस्से में स्थित गरोठ, भानपुरा से लेकर झालावाड़ तक की दूरी 40 किमी तक कम करने के लिए संजीत क्षेत्र में ग्राम टिडवास, गरनई से मोल्याखेड़ी के बीच चंबल नदी पर नए पुल निर्माण के सर्वे को लेकर अब कुछ उम्मीद जगी है। सेतु विकास निगम नदी ने शासन को पत्र भेजा है। इस बार गर्मी में भी गांधीसागर जलाशय के जलभराव क्षेत्र में पानी कम नहीं होने से निगम डीपीआर भी तैयार नहीं कर पाया था। अब निगम के अधिकारियों ने आधुनिक उपकरणों से सर्वे कराने की मांग की है।

    गत वर्ष तत्कालीन कलेक्टर स्वतंत्रकुमार सिंह ने जनप्रतिनिधियों के साथ संजीत क्षेत्र पहुंच ग्राम गरनई, टिडवास क्षेत्र का भ्रमण कर गांधीसागर जलाशय के जलभराव क्षेत्र में चंबल नदी पर संजीत क्षेत्र से होते हुए गरोठ पहुंचने के लिए पुल निर्माण की योजना बनाई थी। लोगों को बड़ी राहत देने के लिए विधायकों ने पुल निर्माण के लिए शासन स्तर पर स्वीकृति दिलाने की भी बात कही थी। लगभग 430 करोड़ लागत से 4.3 किमी तक बनने वाले इस पुल के लिए डीपीआर तक तैयार नहीं हो पाई है। गरनई टिडवास में चंबल की गहराई लगभग 125 फीट से अधिक और चौड़ाई दो किमी से भी अधिक होने पर सेतु विकास निगम गत वर्ष इसका सर्वे नहीं करा पाया। निगम के अधिकारियों ने गर्मी में पानी कम होने की उम्मीद पर सर्वे करने का विचार किया था, लेकिन गर्मी में भी यहां 110 फीट से अधिक पानी होने पर सर्वे नहीं कर पाए। ऐसे में निगम ने भोपाल के अधिकारियों को पत्र भेज डीपीआर तैयार कराने को लेकर हाइटेक सर्वे कराने की मांग की है। ताकि आधुनिक उपकरणों से ब्रिज की डीपीआर व इसकी उपयोगिता का मेप तैयार किया जा सके।

    गत वर्ष तैयार किया था अनुमानित प्रस्ताव

    तत्कालीन कलेक्टर सिंह के निर्देश पर सेतु विकास निगम रतलाम के तत्कालीन एसडीओ आरके गुप्ता ने संजीत क्षेत्र की तरफ गरनई के आगे ग्राम टिडवास से गरोठ तहसील के ग्राम मोलाखेड़ी खुर्द तक अनुमानित 4.31 किमी लंबे पुल के लिए 430 करोड़ का प्रस्ताव तैयार किया था। इसके बाद से मामले में अब तक कुछ नहीं हो पाया है।

    पुल निर्माण से यह होगा लाभ

    - राजस्थान से सीधे गुजरात के लिए नवीन मार्ग खुलेगा।

    - जिला मुख्यालय से गरोठ, भानपुरा, राजस्थान के झालावाड़ की दूरी 40 किमी तक कम होगी।

    - व्यापार व व्यवसाय को बढ़ावा मिलेगा।

    - जिला मुख्यालय से ग्राम संजीत तक लोगों को होगा लाभ।

    - संजीत क्षेत्र व गांधीसागर में पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा।

    पत्र भेजा है

    -संजीत क्षेत्र से गरोठ क्षेत्र के ग्राम मोलाखेड़ी खुर्द ग्राम तक पुल बनाने के लिए डिटेल सर्वे किया जाना है। नदी की चौड़ाई और पानी अधिक होने से सर्वे नहीं कर पा रहे हैं। ब्रिज कहां बने, किस जगह कम लंबाई में काम होगा, किस जगह बनाने पर अधिकांश गांवों को लाभ होगा, इस तरह का डिटेल व हाइटेक सर्वे कराने के लिए शासन को पत्र भेजा है। अब शासन स्तर से किसी कंपनी द्वारा हाइटेक सर्वे कराए जाने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा। -आरके कटारिया, एसडीओ, सेतु विकास निगम, मंदसौर

    और जानें :  # chambal # new brize # # mandsaur
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें