मंदसौर। मंगलवार और बुधवार दो दिन महाशिवरात्रि होने से श्रद्धालु भी बंट गए। श्री पशुपतिनाथ महादेव मंदिर पर अलसुबह पट खुलते ही श्रद्धालुओं के पहुंचने का क्रम शुरू हुआ, जो रात 10 बजे तक अनवरत चलता रहा। दिनभर में लगभग 50 हजार भक्त बाबा के दरबार में पहुंचे।

पशुपतिनाथ मंदिर पर दिनभर भक्तों की कतारें लगी रहीं। इधर, महाघंटा अभियान के सदस्यों द्वारा भगवान पशुपतिनाथ महादेव को 11 क्विंटल खिचड़ी का भोग लगाया गया। पश्चात खिचड़ी भक्तों में वितरित की गई। इसके अलावा भक्तों द्वारा मंदिर पर पेड़े की प्रसादी भी वितरित की गई। गायत्री परिवार द्वारा पशुपतिनाथ मंदिर परिसर में नौ कुंडीय महामृत्युंजय महायज्ञ का आयोजन किया गया।

हर मिनट में करीब 83 श्रद्धालुओं को गंर्भगृह में दर्शन कराए जा रहे थे। मंदिर के पट 14 फरवरी को दोपहर एक बजे तक खुले रहेंगे। गौरतलब है कि इस बार मतांतर के कारण दो दिन शिवरात्रि मनाई जा रही है। उधर मंदिर के पास शिवना नदी में भी लोग श्रद्धा की डुबकी लगाते रहे। महाशिवरात्रि के पावन अवसर पर शिवना नदी में स्नान करने के लिए भी लोगों की सुबह से ही भीड़ लगी है।