मंदसौर। भावगढ़ पुलिस ने साले की हत्या के मामले में गिरफ्तार जीजा को रविवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेजने के आदेश दिए गए॥ टीआई शिवकुमार यादव ने बताया कि ग्राम राकोदा निवासी पप्पू यादव के पिता लक्ष्मीनारायण की मृत्यु होने के कारण घर पर भोज का कार्यक्रम था। यहां पप्पू का जीजा योगेन्ध पिता जमनालाल यादव निवासी इंदिरा कॉलोनी प्रतापगढ़ भी आया था। कार्यक्रम के बाद रात्रि में जीजा-साले ने साथ में शराब भी पी थी। इस बीच लेनदेन की बात को लेकर जीजा और चचेरा साला दिलीप के बीच कहा-सुनी हो गई। देखते ही देखते दोनों में मारपीट शुरू हो गई। इस दौरान विवाद देख पप्पू बचाव करने पहुंचा तो दोनों जीजा-साले आपस में भिड़ गए। जीजा ने चाकू उठाकर साले के गुप्तांग पर कई बार वार कर दिया, जिससे पप्पू की गंभीर चोट आने के कारण मौत हो गई थी। घटना के बाद जीजा योगेन्ध फरार हो गया था, जिसे पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद आकोदड़ा माता मंदिर से गिरफ्तार किया और रविवार को उसे कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेजा है।