-विधिक साक्षरता शिविर में अपर जिला न्यायाधीश रईस खान ने कहा

मंदसौर। नईदुनिया प्रतिनिधि

कोई व्यक्ति यह कहकर अपना बचाव नहीं कर सकता है कि मुझे यह जानकारी नहीं थी कि मेरा कृत्य अपराध की श्रेणी में आता है। संविधान द्वारा प्रदत्त मौलिक अधिकारों की भी सभी को जानकारी होना आवश्यक है। और इनका पालन भी करना चाहिए।

यह बात जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जिला सचिव अपर जिला न्यायाधीश रईस खान ने कही। वे श्रीजी इंस्टीटयूट ऑफ नर्सिंग साइंस कॉलेज गुराड़ियादेदा में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा लगाए गए विधिक साक्षरता शिविर में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि समाज में हो रहे अपराधों के संबंध में कोई भी जागरुक व्यक्ति आगे आकर अपराध की शिकायत कर सकता है। उसका पीड़ित होना आवश्यक नहीं है। तत्पश्चात पाक्सो एक्ट, महिलाओं एवं बच्चों के संबंध में विभिन्न कानूनों की जानकारी देते हुए उनके द्वारा पूछे गए विधिक प्रश्नों का समाधान किया। जिला विधिक सहायता अधिकारी योगेश बंसल ने विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा संचालित लोक अदालतों की जानकारी दी। माह के प्रत्येक अंतिम कार्य दिवस शनिवार को लगने वाले लोकोपयोगी लोक अदालत की जानकारी से भी अवगत कराया। लोकोपयोगी लोक अदालत में कोई भी व्यक्ति विद्युत, प्रकाश, सड़क, परिवहन, टेलीफोन इत्यादि जनहित से जुड़ी हुई समस्याओं के निराकरण हेतु आवेदन कर निराकरण करा सकता है। अवधेश कुमार दीक्षित द्वारा राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा संचालित विभिन्ना योजनाओं की जानकारी दी गई। संचालन आशीष टेलर ने किया। आभार दीपक सैनी ने माना।

शक्तावत जिला महासचिव बने

मंदसौर। एनएसयूआई प्रदेश कार्यालय सचिव घनश्याम हारोडे ने राघव राजसिंह वीरेंद्रसिंह शक्तावत को भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन में जिला महासचिव पद पर नियुक्त किया है।