ग्राम बनी में पेयजल पाइप लाइन कार्य में अनियमितता का आरोप

ग्रामीणों ने कहा- कम गहराई से आएगी परेशानी

16 एमडीएस-73 केप्शनः इतनी कम गहराई में डाली जा रही है पाइप लाइन

मंदसौर/नगरी। नईदुनिया प्रतिनिधि

मंदसौर जनपद के ग्राम बनी में पेयजल के लिए पाइप लाइन को ठेकेदार महज डेढ़ से दो फीट की खुदाई कर ही बिछा रहा है। जबकि यह कम से कम चार फीट गहरी होना चाहिए। मामले में ग्रामीण अनियमितता का आरोप लगाते हुए कह रहे हैं कि खेतों में जुताई के दौरान ही पाइप लाइन बाहर आने की आशंका रहेगी और पेयजल वितरण में भी परेशानी आएगी।

जानकारी के अनुसार लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा ग्राम बनी में लगभग 600 नल उपभोक्ताओं के लिए गांव के बाहर स्थित ट्यूबवेल तथा कुएं से गांव तक नलों को जोड़ने के लिए तीन हजार मीटर लंबी पाइप लाइन बिछाने का काम चल रहा है। ग्राम के मनोहर धाकड़, महेश धाकड़ आदि का कहना है कि जो पाइप लाइन बिछाई जा रही है, उसमें ठेकेदार द्वारा महज डेढ़ से दो फीट की गहराई ही रखी जा रही है। पाइप लाइन कई खेतों में से बिछाई जा रही है। खेतों में गहरी जुताई किसानों द्वारा की जाएगी तो पेयजल पाइप लाइन को नुकसानी की आशंका रहेगी। हमने इस संबंध में ठेकेदार को भी बताया है, पर ठेकेदार द्वारा इस ओर ध्यान नहीं देते हुए काम में अनियमितता की जा रही है।

क्या कहते हैं संबंधित

- पूरा कार्य लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के इंजीनियर की निगरानी में ही किया जा रहा है। नियमानुसार ही काम कर रहे हैं। -कुलदीप डोडिया, ठेकेदार

बाक्स ----------

- ग्राम बनी में पेयजल पाइप लाइन करीब दो से ढाई फीट की गहराई में बिछाई जा रही है। जहां-जहां खेतों में किसानों की पाइप लाइन हैं, वहां गहराई कम ली है ताकि किसानों का नुकसान नहीं हो। खेतों की हकाई जुताई में पाइप लाइन नुकसानी की आशंका बिलकुल नहीं है। -डीके जैन,उपयंत्री, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, मंदसौर