पीड़ित युवक ने सीएमएचओ सहित स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों की शिकायत, शीघ्र कार्रवाई की रखी मांग

फोटो-4

-गंजबासौदा। आज अस्पताल में आईं सीएमएचओ डॉ.शशि ठाकुर को गर्वित वैशाखिया और उसके साथियों ने शिकायती आवेदन देकर चिकित्सक पर शीघ्र कार्रवाई की मांग की।

गंजबासौदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

शासकीय अस्पताल में पदस्थ एक चिकित्सक द्वारा मरीज को अपने ड्यूटी समय में फीस लेकर उपचार करने और अस्पताल में ही बैठकर प्रायवेट पर्चे पर दवाएं लिखने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। इस पूरे घटनाक्रम की वीडियो वायरल होने के बाद पीड़ित युवक ने चिकित्सक की शिकायत एसडीएम से लेकर स्वास्थ्य संचालक तक को करते हुए कार्रवाई की मांग की है। उधर आज स्थानीय अस्पताल में आईं जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.शशि ठाकुर से भी पीड़ित युवक ने मुलाकात कर उन्हें शिकायत प्रस्तुत की। जिसके बाद डॉ.ठाकुर ने मामले की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

ज्ञात हो कि शासकीय राजीव गांधी अस्पताल में व्याप्त अव्यवस्थाओं से मरीज पहले से ही परेशान हैं। कभी समय पर चिकित्सक नहीं मिलते और कभी दवाओं की कमी रहती है। यहां तक कि अस्पताल में भर्ती मरीजों को बाहर से दवाएं भी खरीदकर लाना पड़ती हैं। उधर अब कुछ चिकित्सकों द्वारा प्रायवेट उपचार करने में दिलचस्पी दिखाने से मरीजों की परेशानी और भी बढ़ गई है।

अस्पताल में सरकारी पर्चा बनवाने पर ठीक से देखा तक नहीं

चिकित्सकों की ऐसी ही मनमानी के ऐसे ही एक मामले का वीडियो इन दिनों वायरल हो रहा है और नगर में चर्चा का विषय बना हुआ है। इस घटनाक्रम के पीड़ित युवक गर्वित बैशाखिया उर्फ भानु ने इस मामले की शिकायत स्वास्थ्य विभाग के सभी बड़े अधिकारियों सहित एसडीएम को भी की है। गर्वित द्वारा की गई शिकायत में उसने कहा है कि गत दिवस उसे घबराहट एवं बेचैनी होने पर वह शासकीय अस्पताल में पर्चा बनवाकर चिकित्सक को दिखाने गया था। तब चिकित्सक ने उसे ठीक से देखा तक नहीं और अभद्रता करते हुए सरकारी पर्चे पर एक दर्द का इंजेक्शन लिखकर दे दिया।

प्रायवेट पर्चा बनवाया, तभी मिला सही उपचार

जब वह अस्पताल से बाहर निकला तो उसे परिसर में एक व्यक्ति मिला, जिसने बताया कि डॉक्टर साहब को प्रायवेट में दिखाओ तो अच्छा उपचार हो जाएगा। इस व्यक्ति की बातों पर विश्वास कर गर्वित उसके साथ संबंधित चिकित्सक के क्लीनिक पर चला गया। जहां उससे 200 स्र्‌पए फीस जमा कराकर प्रायवेट पर्चा दे दिया गया। इसके बाद वही व्यक्ति गर्वित को वापस अस्पताल ले आया। जहां चिकित्सक ने प्रायवेट पर्चा देखकर उसकी अच्छे से जांच की और ब्लड प्रेशर मापकर उसे प्रायवेट पर्चे पर दवाएं भी लिखकर दे दीं।

घटनाक्रम का बनाया वीडियो, अधिकारियों से की शिकायत

इस घटना से आहत गर्वित ने पूरे घटनाक्रम का मोबाइल में वीडियो बनाया और उसे वायरल कर दिया, जो इन दिनों नगर में चर्चा का विषय बना हुआ है। इसके साथ ही उसने चिकित्सक पर कार्रवाई की मांग को लेकर अधिकारियों को वीडियो की सीडी और शिकायत प्रस्तुत कर दी। वहीं आज शासकीय अस्पताल में आईं जिला मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.शशि ठाकुर को भी गर्वित ने लिखित शिकायत प्रस्तुत कर उन्हें पूरा घटनाक्रम बताया और चिकित्सक पर शीघ्र कार्रवाई की मांग की।

चिकित्सक ने रखा अपना पक्ष

इस संबंध में डॉ.अतुल जैन का कहना है कि गर्वित वैशाखिया अस्पताल में उपचार कराने सरकारी पर्चा लेकर आया था। जिस पर उसे अस्पताल में उपलब्ध दवाएं लिख दी गई थीं। इसके बाद वह पूर्व में प्रायवेट रूप से दिखाने पर बनवाए पर्चे को साथ लेकर आया और उसी पर्चे पर कुछ दवाएं बढ़वाकर ले गया था। डॉ.जैन के अनुसार उन्होंने किसी मरीज को प्रायवेट में उपचार कराने के लिए बाध्य नहीं किया और प्रायवेट में न दिखाने पर किसी मरीज से उपचार में भेदभाव भी नहीं किया है।

इनका कहना है

इस मामले की पूरी जांच कराई जाएगी और जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

डॉ.शशि ठाकुर, सीएमएचओ, विदिशा

हादसों के बाद भी घरों के ऊपर निकली बिजली लाइन को नहीं किया जा रहा शिफ्ट

गमाकर में 11 हजार केवी की बिजली लाइन की चपेट में आकर एक की हो चुकी है मौत, तीन हो चुके हैं गंभीर घायल,

-'बिजली वितरण कंपनी अपनी लाइन शिफ्ट करने के लिए ग्रामीणों से मांग रही है राशि

फोटो - 1

गंजबासौदा। ग्राम गमाखर में घरों के ठीक ऊपर से ही निकली है हाईटेंशन लाइन।

गंजबासौदा नवदुनिया प्रतिनिधि। बिजली वितरण कंपनी को लगता है किसी बड़े हादसे का इंतजार है। गमाकर में घरों के ऊपर से निकली 11 हजार केव्ही व्यावसायिक बिजली लाइन की चपेट में आकर अभी तक एक ग्रामीण मौत हो चुकी है जबकि तीन गंभीर रूप से घायल हो चुके हैं जो किसी तरह से मौत के मुंह में जाने से बच गए लेकिन हादसे का मंजर जब जब भी उनकी आंखों के सामने आता है तो उनकी रूह कांप जाती है। तीस घरों के रहवासियों के सामने मुश्किल यह है कि वह अपने पक्के मकानों को छोड़कर जा नहीं सकते है और ना ही आर्थिक रूप या इतने प्रभावशाली हैं कि बिजली कंपनी को राशि देकर घरों के ऊपर से निकली बिजली लाइन को शिफ्ट करा सकें। इधर कंपनी पीड़ितों की समस्या का निराकरण करना तो दूर बल्कि समस्या के लिए संघर्ष कर रहे रहवासियों को शासकीय कार्य में बाधा डालने का दबाब बनाकर नोटिस थमा रहे हैं। इधर पीड़ित रहवासियों का कहना है कि जब तक उनके घरों के ऊपर से निकली 11 हजार केव्ही लाइन को शिफ्ट नहीं किया जाएगा तब तक वह कंपनी को कार्य नहीं करने देंगे इसके लिए वह बड़े से बड़ी परेशानी को झेलने तैयार हैं लेकिन लाइन की चपेट में आकर अब किसी बेगुनाह को मौत के मुंह में नहीं जाने देंगे। यह मामला यहां से करीब आठ किमी दूर ग्राम गमाकर का है जहां करीब तीस घरों की छतों के ऊपर 11 हजार केव्ही की बिजली लाइन निकली हुई है। जो कि जर्जर और पुरानी हो चुकी है। मप्र मध्य क्षेत्र बिजली वितरण कंपनी द्वारा ग्राम पचमा में स्थापति 11 केव्ही पंप फीडर का कंक्टर आगुमेंटेशन लाइन बदलने का कार्य ग्राम बनवा से नौघई तक किया जा रहा है। सिंचाई पंप के लिए दी जाने वाली बिजली लाइन करीब तीस साल पहले डाली गई थी जो कि कम क्षमता की थी एवं जर्जर और पतली होने के कारण लोड बढ़ने से लाइन को बदलने का कार्य बिजली वितरण कंपनी द्वारा किया जा रहा है। कंपनी ने बनवा फीडर से गमाकर तक यह कार्य कर दिया है। अब इसे बढ़ाकर नौघई तक किया जा रहा है। गमाकर में तीस घरों के ऊपर से निकली इस लाइन को बदलने के लिए जब कंपनी के ठेकेदार पहुंचे तो रहवासियों ने उनका विरोध कर दिया और काम करने से रोक दिया। रहवासियों की मांग थी कि इस लाइन की चपेटे में आकर एक की मौत हो चुकी है और तीन घायल हो चुके हैं इसलिए लाइन को दूसरी जगह से शिफ्ट किया जाए। जब मामला बिजली कंपनी के अधिकारियों के बीच पहुंचा तो उन्होनें रहवासियों से स्पष्ट रूप से कह दिया कि लाइन जिस जगह से गई उसे वैसे ही बदला जाएगा यदि लाइन को शिफ्ट कराना है तो इसके लिए कंपनी को शिफ्टिंग राशि जमा कराना होगी तभी लाइन को दूसरे खंभों पर शिफ्ट किया जाएगा। कंपनी और ग्रामीणों के विवाद के कारण पंद्रह दिन से लाइन को बदलने का काम रूका हुआ है। लाइन शिफ्टिंग को लेकर शुक्रवार को पीड़ित रहवासियों ने अपनी समस्या को लेकर तहसील में एसडीएम प्रकाश नायक को लिखित आवेदन देकर कार्रवाई की मांग की है।

बॉक्स

एक फीट की ऊंचाई से चपेट में ले लेती है 11 हजार केव्ही की लान

11 हजार केव्ही की बिजली लाइन की क्षमता इतनी अधिक होती है कि उसके संपर्क में आने पर वह एक फिट की ऊंचाई से ही चपेट में ले लेती है। इस लाइन की चपेट में आकर ऐसा ही हादसा गमाकर निवासी गोपाल भोई के साथ घटित हो चुका है। जब वह अपने कच्चे घर को सुधार रहे थे तभी उनके घर के ऊपर से निकली 11 हजार केव्ही की लाइन ने उन्हें चपेट में ले लिया जिससे उनकी मौके परही मौत हो गई। करीब तीन माह पूर्व घर सुधारने के दौरान प्रदीप शर्मा और मंगलसिंह केवट भी लाइन की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हो चुके हैं वह खुशकिस्मत थे जो किसी तरह बच गए। पीड़ित रहवासी संजीव परिहार चौकीदार, पप्पू केवट, केशव रघुवंशी, करण सिंह चिढ़ार,मंगलसिंह भोई, शंभू खंगार, लक्ष्मण सिंह ने बताया कि वह वर्षों से रह रहे हैं उनकी आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं है कि वह दूसरी जगह घर बनाकर रह सकें और कंपनी को शिफि्‌टंग चार्ज देकर लाइन को बदलवा सकें। इधर बिजली कंपनी के गंज डीसी के जेई खुशाल सिंह का कहना है कि गमाकर की 11 हजार केवी की सिंचाई लाइन करीब पैंतीस साल पुरानी है। पतली और पुरानी लाइन होने से उसकी क्षमताएं कम हैं उस पर दिनों दिन लोड बढ़ने से वह जर्जर होने से उसको बदलना जरूरी है। लाइन को बदलने के लिए नियमानुसार रहवासियों को लाइन शिफि्‌ंटग के लिए आवेदन देना होगा जिसके बाद लाइन शिफ्टिंग का स्टीमेट बनाकर जो व्यय होगा उसके लिए रहवासियों द्वारा जमा कराना होगा तभी लाइन को शिफि्‌ट किया जा सकेगा। इस प्रक्रिया को अपनाए बिना लाइन को शिफि्‌ट नहीं किया जा सकता है।

साइलेंस जोन घोषित, रात 10 बजे तक ही बजेंगे ध्वनि विस्तारक यंत्र

गंजबासौदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

विधानसभा चुनावों को देखते हुए बासौदा ग्यारसपुर विधानसभा क्षेत्र को जिला निर्वाचन अधिकारी के वी सिंह ने साईलेंस जोन घोषित कर दिया है। सुबह 6 बजे से रात 10 बजे तक किसी भी प्रकार के ध्वनि विस्तारक यंत्रों के इस्तेमाल की अनुमति रहेगी इसके पश्चात यदि बिना अनुमति और निर्धारित समय के बाद वाहन प्रचार करते हुए पाए जाने पर उसके कानूनी कार्रवाई की जाएगी। जानकारी के अनुसार जिला निर्वाचन अधिकारी के वी सिंह ने जिलें की पांचों विधानसभाओं को साईलेंस जोन घोषित कर दिया है। इसके तहत बिना अनुमति के ध्वनि विस्तारक यंत्रों का उपयोग नहीं किया जा सकेगा। विधानसभा चुनाव में अब किसी भी तरह की आमसभा, प्रचार प्रसार के लिए लाउड स्पीकर की अनुमति लेकर सुबह छह बजे से रात 10 बजे तक ही अनुमति रहेगी।

मील माता मंदिर पर आज पंचमी पर होगी महाआरती

गंजबासौदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

नवरात्रि के मौके पर स्टेशन रोड स्थ्ति मील वाली माता मंदिर में रविवार को पंचमी के मौके पर महाआरती का आयोजन रखा गया है। मंदिर के पुजारी अनिल चतुर्वेदी ने बताया कि नवरात्रि के अवसर पर पहले ही दिन से मंदिर में प्रतिदिन सुबह ग्यारह बजे से कन्याभोज का आयोजन किया जा रहा है जो कि नवरात्रि के समापन तक चलेगा। इसके अलावा हवन भी शाम 4 बजे से 6 बजे तक आयोजित किया जा रहा है। श्री चतुर्वेदी ने धर्मालुओं से आयोजन में शामिल होने की अपील की है।

प्रतिभावान बच्चों को किया जाएगा सम्मानित

गंजबासौदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

शिक्षा जन जागरण समिति के जनक स्व. सेठ दीपचंद्र जैन की पांचवी पुण्य स्मृति के मौके पर 15 अक्टूबर सोमवार को त्योंदा रोड़ स्थित कमलदीप अकादमी परिसर में सम्मान समारोह का आयोजन किया गया है। समिति के अध्यक्ष डॉ. ए के जैन ने बताया कि राजीव मेमोरियल हायर सेकेण्ड्री स्कूल तथा कमलदीप अकादमी में अध्ययनरत प्रतिभावान उत्कृष्ट अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को समिति द्वारा सम्मानित कर उन्हें पुरूस्कृत किया जाएगा। वहीं पुण्यतिथि के मौके पर शहर के स्टेशन क्षेत्र आदि प्रमुख स्थानों पर निर्धन वर्ग के लोगों को भोजन कराया जाएगा।

द्वितीय फालोअप शिविर लगाकर दी दवाइयां, बांटे निःशुल्क चश्में

फोटो क्रमांक 8

कैप्शन-गंजबासौदा। हितकारिणी धर्मशाला में नेत्र रोगियों के लिए फॉलोअप शिविर लगाया गया।

गंजबासौदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

सेवा सदन नेत्र चिकित्सालय बैरागढ़ तथा नेत्र शिविर नागरिक समिति एवं सिंधी समाज के संयुक्त तत्वाधान में शनिवार को नेत्र शिविर रोगियों के लिए स्थानीय हितकारिणी धर्मशाला में द्वितीय फालोअप शिविर आयोजित किया गया जिसमें सेवा सदन नेत्र चिकित्सालय से पधारे डा ईश चौबे ने अपने सहयोगियों के साथ 36 नेत्र रोगियों की पुनः जांच कर उन्हें निःशुल्क दवाइयां और 36 चश्में भी नेत्र रोगियों को दिए गए। इस अवसर पर समिति के अध्यक्ष कांति भाई शाह, सुरेश कुमार तनवानी, महेन्द्र सिंह सूर्यवंशी, तेज नारायण श्रीवास्तव, महेंद्र सिंह ठाकुर फैजी रामगोपाल गुप्ता, रामबाबू दुबे सहित अन्य सदस्यगण उपस्थित थे।

मोहनप्रसाद शर्मा उपाध्यक्ष बने उपाध्यक्ष

गंजबासौदा। नगर कांग्रेस कमेटी में नगर कांग्रेस अध्यक्ष मोहम्मद अदनान की अनुशंसा पर मोहनप्रसाद शर्मा ग्राम लमन्या को उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है। श्री शर्मा को अनेक कार्यकर्ताओं ने बधाई दी है। बधाई देने वालों में आविद हुसैन कल्लू मामा, सोनू मालवीय, धर्मेन्द्र पटैल, प्रदीप व्यास, मानसिंह, चित्रांश सोनी, दीपक शर्मा, सचिन शर्मा, बलराम सिंह रघुवंशी, गौरव शर्मा, रीतेश शर्मा, महेन्द्र शर्मा नाहे शामिल हैं।

मतदान की दिलाई की शपथ

फोटो-2

-गंजबासौदा। एलबीएस कॉलेज में विद्यार्थियों को मतदान के प्रति जागस्र्‌कता की शपथ दिलाई गई।

फोटो- 9

गंजबासौदा। ग्राम साहबा में ग्र्‌रामीणां को मतदान के प्रति जागस्र्‌कता की शपथ दिलाई।

गंजबासौदा। श्री लालबहादुर शास्त्री महाविद्यालय में मतदाता जागरूकता अभियान के तहत विद्यार्थियों को मतदान की शपथ दिलाई गई। महाविद्यालय के प्राचार्य पाण्डे ने कहा कि मतदान करना हर नागरिक का अधिकार है जिन लोगों की उम्र 18 वर्ष हो चुकी है उन्हें अपने वोट का प्रयोग अवश्य करना चाहिये। रासेयो के कार्यक्रम अधिकारी डॉ. एमके सक्सेना ने वोट का महत्व समझाते हुए अपने शहर,मोहल्ले में रहने वाले लोगों को मतदान करने के लिए जागरूक करने की अपील की। इस अवसर पर एनसीसी अधिकारी प्रो. मनीष, प्रो.डॉ.निधि शर्मा, प्रो. शिल्पा जैन व समस्त महाविद्यालयीन स्टाफ मौजूद था। वहीं ग्राम साहबा में सरपंच शिवराज शर्मा और देवराज तिवारी ने ग्रामीणों को मतदान के प्रति जागरूकता की शपथ दिलाई। इस मौके पर अनेक ग्रामीण मौजूद थे।

सबसे कम वोटिंग वाले मतदान केंद्रों पर बढ़ाया जाएगा वोटिंग प्रतिशत

गंजबासौदा। मप्र निर्वाचन आयोग इस बार ऐसे मतदान केंद्रों पर मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए फोकस कर रहा है जहां 2013 के विधानसभा चुनावों में 60 प्रतिशत से कम और 70 प्रतिशत से कम मतदान हुआ था। बासौदा ग्यारसपुर विधानसभा में 2013 के चुनावों में 232 मतदान केंद्रों में से चार मतदान केंद्रों पर साठ प्रतिशत से कम मतदान हुआ था जबकि 43 ऐसे मतदान केंद्र थे जहां 70 प्रतिशत से कम मतदान हुआ था। जबकि इस बार मतदान केंद्रों की संख्या भी 232 से बढ़कर 256 हो गई है इसलिए अभी से ऐसे मतदान केंद्रों पर मत प्रतिशत बढ़ाने के लिए मतदाता जागरूता की गतिविधियां संचालित की जाएंगी। रिटर्निंग ऑफीसर प्रकाश नायक ने बताया कि बासौदा विधानसभा में इस बार मतदान केंद्रों के अलावा मतदाताओं की संख्या भी बढ़ी है जहां 2013 के चुनाव में 232 मतदान केंद्रों पर 1 लाख 83 हजार 528 मतदाता थे जबकि अब की बार 256 मतदान केंद्रों पर 1 लाख 89 हजार 375 मतदाता अपने मतों का प्रयोग करेंगे। पिछले चुनाव में मतदान क्रमांक 23,40 41 और 49 पर साठ प्रतिशत से भी कम मतदान हुआ था जबकि 43 ऐसे मतदान केंद्र थे जिन पर 70 प्रतिशत से कम मतदान हुआ था। इन मतदान केंद्रों पर मतदान का प्रतिशत बढ़ाने के लिए चुनाव आयोग ने मतदाता जागरूकता बढ़ाने के लिए केंद्र और क्षेत्र से जुड़े कर्मचारियों के माध्यम से स्वीप की गतिविधियां शुरू कर दी गई हैं ताकि अधिक से अधिक संख्या में लोग मतदान में भागीदारी कर सकें। श्री नायक के अनुसार कम मतदान प्रतिशत वाले मतदान केंद्रों के बारे में जानकारी जुटाई गई है कि वहां किन कारणों से मतदान का प्रतिशत कम रहा था उन कमियों को दूर कर मतदान का प्रतिशत बढ़ाया जाएगा। इसके अलावा शहरी क्षेत्र के ऐसे मतदान केंद्र जहां पर 1100 से अधिक मतदाता दर्ज वहां पर दो मतदान केंद्र बनाए गए हैं इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्र में ऐसे मतदान केंद्र जहां 1350 से अधिक मतदाता हैं वहां भी दो से अधिक मतदान केंद्र बनाए गए हैं इसलिए इस बार 24 नए मतदान केंद्र बनाए गए हैं ताकि मतदाताओं को मतदान के लिए किसी भी तरह की असुविधा का सामना न करना पड़े।