महू। सामाजिक संस्था प्रज्ञासागर प्रबुद्ध संघ द्वारा महू उपजेल में कैदियों के स्वास्थ्य की जांच के लिए शिविर का आयोजन सोमवार को कि या गया। इसमें जेल में बंद 114 कै दियों के स्वास्थ्य की जांच कर उन्हें एक सप्ताह की दवा दी गई। शिविर में डॉ. अविलेस श्रीवास्तव,डॉ. सचिन चौहान, अश्विन पाईया, दीपक धुर्वे, वैशाली गुप्त, आकाश डोंगरे आदि ने सेवाएं प्रदान की। इस मौके पर एसडीएम अंशुल गुप्ता, राधेश्याम बियाणी, मनीषा सोजतिया अतिथि के रूप में मौजूद थी। स्वागत बाबूलाल सेन, गोल्डी चौरसिया आदि ने कि या। संचालन जगमोहन सोन ने कि या। आभार जेलर मनोज कु मार चौरसिया ने माना।

फोटो कै प्शन

11 महू 1---उपजेल में आयोजित शिविर में कै दियों के स्वास्थ्य की जांच करते चिकि त्सक।

11 महू 2-- स्वास्थ्य की जांच के लिए लाइन में बैेठे कै दी।

---------------------

'बहारों मेरा जीवन संवारो' संगीत निशा आयोजित

महू। वसंत पंचमी पर संस्कृति म्यूजिक ग्रुप द्वारा संगीत निशा का आयोजन कि या गया। बहारों मेरा जीवन संवारो विषय पर आधारित इस संगीत निशा में गायकों ने कंपकंपाती ठंड में एक से बढ़कर एक गीतों की प्रस्तुतियां दीं।

महाराष्ट्र समाज के सभागृह में आयोजित इस संगीत निशा में पंद्रह गायक-गायिकाओं ने तीस से ज्यादा पुराने गीतों की शानदार प्रस्तुतियां दी। इसमें सुरेश मोरे ने मैं जहां चला जाऊं बहार चली आए, के एल गोयल ने बहारों फू ल बरसाओ, अनिल रॉय बाथम ने आए बहार बनकर, संजय अग्रवाल ने ऐ फू लों की रानी बहारों की मलिका, युगल जोड़ी में अरुण जोशी व मेघा मकरानी ने दिन हैं बहार के, कु ंदन पाटनवाला व इंदुबाला प्रजापति की जोड़ी ने मेरा प्यार भी तू है बहार भी तू है जैसे गीतों की शानदार प्रस्तुति दी। कड़कड़ाती ठंड में यह संगीत निशा रात बारह बजे तक चली जिसे सुनने के लिए बड़ी संख्या मे श्रोता भी मौजूद थे। संगीत निशा का शुभारंभ शेखर बुंदेला, रामलाल प्रजापति, चिंतामण कु लकर्णी, संजल चंदा ने कि या। संगीत संजय दिवान ने दिया। संचालन निहारिका प्रजापति ने कि या। आभार गजानन सहस्त्रबुद्धे ने माना।

फोटो कै प्शन

11 महू 8--- संगीत निशा में गीतों की प्रस्तुति देते गायक।