-एसडीएम ने कि या कारखानों का निरीक्षण, वाहनों से लिया जाएगा प्रवेश कर

महू। कोदरिया के आलू चिप्स कारखानों से निकलने वाले गंदे पानी की समस्या के निराकरण को लेकर अनेक निर्णय लिए गए। एसडीएम ने अन्य अधिकारियों के साथ कारखानों का निरीक्षण कि या। कारखाना संचालकों से एक रुपए प्रति वॉट शुल्क तथा भारी वाहनों से प्रवेश शुल्क लेने के निर्देश पंचायत को दिए।

एसडीएम अंशुल गुप्ता ने गत दिनों कोदरिया के आलू चिप्स कारखानों का निरीक्षण कि या। इन कारखानों से निकलने वाले गंदे व बदबूदार पानी से हो रहे प्रदूषण पर चिंता जताई तथ इसके निराकरण के लिए चर्चा की। एसडीएम गुप्ता ने पंचायत को निर्देश दिए कि कारखाना संचालकों से उनकी निर्माण क्षमता के अनुसार कर लिया जाए। जैसे कि सी कारखाना संचालक ने दस एचपी का कनेक्शन लिया है तो उससे दस हजार रुपए कर के रूप में लिए जाएंगे। यह कर स्वच्छता के नाम पर होगा। जितनी राशि पंचायत को मिलेगी उतनी ही राशि शासन से दिलाई जाएगी जिससे नाले की साफ-सफाई तथा गंदे पानी को फिल्टर करने का काम कि या जाएगा। अगर इसमें राशि की कमी होगी तो अन्य मदों से ली जाएगी।

प्रवेश कर भी लिया जाएगा

चर्चा मे अधिकारियों ने कहा इस मौसम में गांव में बड़ी संख्या में भारी वाहन आते हैं इनसे भी प्रवेश कर लिया जाए। इसके लिए अब वाहनों या वजन के हिसाब से कर लिया जाए यह तय नही हुआ। इसके लिए पंचायत, आलू चिप्स कारखाना एसोसिएशन के अध्यक्ष व सचिव बैठक में तय करेंगे। इस निरीक्षण में तहसीलदार धीरेंद्र पाराशर, जनपद सीईओ राजू मेढ़ा, सरपंच अनुराधा जोशी, मनोज सैनी, रोशन सैनी, इंदरसिंह तवंर, देवेंद्र अग्रवाल आदि मौजूद थे।

फोटो के ैप्शन

11 महू। 9--- कोदरिया के आलू चिप्स कारखानों का निरीक्षण करते एसडीएम व अन्य अधिकारी।