त्योहारों पर बरतें विशेष सतर्कता

महू। डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र ने गुरुवार शाम को थाने का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने असामाजिक तत्वों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए आने वाले दिनों में त्योहारों पर विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए। साथ ही छावनी परिषद से तालमेल बना कर पश्ुापालकों व अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा।

डीआईजी मिश्र को देखते ही थाने में हड़कंप मच गया। मिश्र ने करीब एक घंटे तक रुक कर सभी प्रकरणों, असामाजिक तत्वों की जानकारी ली। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए कि आने वाले त्योहारों को देखते हुए विशेष सतर्कता बरतें। अगर कोई शहर की शांति भंग करने का प्रयास करता है तो कोताही न बरतें। साथ ही परिषद के साथ बैठक कर व तालमेल बना कर पशुपालकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें। शहर में बढ़ रहे अतिक्रमणों के खिलाफ मुहिम चलाएं। उन्होंने तहसील के बड़े गुंडों व असामाजिक तत्वों की सूची भी मांगी।

मालवा उत्सव की तर्ज पर होगा महू स्थापना दिवस उत्सव

दो दिन होंगे खेलकूद व सांस्कृतिक कार्यक्रम

महू। महू स्थापना के दो सौ वर्ष पूरे होने पर दो दिनी उत्सव मनाया जाएगा। इसके लिए आयोजित जनप्रतिनिधियों की बैठक में मई के तीसरे सप्ताह में आयोजन करने पर सहमति बनी। उत्सव पर करीब एक करोड़ रु. खर्च होने का अनुमान है।

यह निर्णय गुरुवार को छावनी के जनप्रतिनिधियों की बैठक में लिया गया। बैठक में मुजीब कुरैशी ने राय दी कि इस उत्सव में गजल गायक पंकज उधास का कार्यक्रम किया जाए मगर खर्च व व्यवस्था के कारण इस राय को खारिज कर दिया गया। बैठक में निर्णय लिया गया कि यह उत्सव मई माह के तीसरे सप्ताह में आयोजित किया जाएगा। इसके लिए लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन व रक्षा मंत्री को आमंत्रित किया जाएगा। इनसे दिनांक मिलने के बाद उत्सव की तारीख तय की जाएगी। उत्सव में खेलकूद प्रतियोगिताएं व सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे। पूरा आयोजन इंदौर में होने वाले मालवा उत्सव की तर्ज पर होगा। सभी आयोजन गैरिसन मैदान पर होंगे। उत्सव को भव्य बनाने के लिए और भी अन्य कार्यक्रम करने की योजना बनाई जा रही है जिसमें सेना की भी भागीदारी होगी।