कट्टा और चाकू सहित तीन बाइक जब्त

महू। किशनगंज पुलिस ने पुलिया के नीचे पेट्रोल पंप लूटने की योजना बनाते हुए पांच बदमाशों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से चोरी की तीन बाइक के साथ कट्टा व अन्य हथियार जब्त किए गए। आरोपित चोरी के वाहनों से वारदात को अंजाम देते थे। इनसे और भी वारदातों के खुलासा होने की उम्मीद है।

एसडीओपी विनोद शर्मा व थाना प्रभारी करणी सिंह शक्तावत ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि सोनवाय पुलिया के नीचे कुछ युवक किसी वारदात को अंजाम देने के लिए बैठे हैं। इस पर घेराबंदी कर वहां से पांच आरोपितों को गिरफ्तार किया। यह युवक किसी वारदात को अंजाम देने के लिए योजना बना रहे थे। पुलिस को देखते ही युवक भागने लगे, लेकिन पुलिस ने क्षेत्र की घेराबंदी कर रखी थी जिस कारण वे सफल नहीं हो सके।

पुलिस ने बताया कि पूछताछ करने पर आरोपित युवकों ने बताया कि वे गंभीर नदी के पास के पेट्रोल पंप को लूटने की योजना बना रहे थे, लेकिन इसके पूर्व ही धरा गए। गिरफ्तार युवकों में दिनेश पिता राधेश्याम पाटीदार (42) निवासी हनुमान चोैक राऊ, आरिफ बेग पिता अजीम बेग (28) निवासी जल्ला कॉलोनी खजराना इंदोैर, बाबूलाल पिता अच्छेलाल (22) निवासी बादवाह जिला छतरपुर, किशोरीलाल पिता रामबाबू (40) निवासी बादवाह छतरपुर तथा जबरसिंह पिता भारत भील (33) निवासी करछट टांडा जिला धार हैं। आरोपितों के पास से एक कट्टा, एक जिंदा कारतूस व छुरा जब्त किया गया।

चोरी की तीन बाइक भी मिली

पुलिस ने बताया कि इन आरोपितों के पास से दो बाइक क्र.एमपी 13 एमआई 8003 व एक बिना नंबर की बाइक जब्त की गई। यह वाहन उन्होंने उज्जोैन व बड़गोंदा थाना क्षेत्र से चोरी करना कबूल किया। इनके सरगना दिनेश पिता राधेश्याम पाटीदार के घर से एमपी 09 क्यू डी 8459 जब्त की गई। यह बाइक किशनगंज थाना क्षेत्र से चोरी की गई करना बताया। आरोपितों को पकड़ने में उप निरीक्षक अमृतलाल गोवरी, दीपक बघेल, रूपलाल मोरे, महेश शर्मा, पन्नाालाल, चंद्रकांत, राघवेंद्र, निलेश, अशोक, सुनील, सुशील व योगेश का विशेष योगदान रहा। सभी आरोपितों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया, जहां से सोमवार तक के लिए पुलिस रिमांड पर भेजा गया। पुलिस को इनसे और भी वारदातों के खुलासा होने की संभावना है।