सांवेर। श्वेतांबर जैन समाज के पर्युषण महापर्व के समापन पर जैन समाजजनों ने संवत्सरी प्रतिक्रमण कर सामूहिक रूप से एक-दूसरे से गलतियों की क्षमायाचना की। भगवान महावीर की माताजी त्रिशलादेवी को आए 14 सपनों व पालनाजी का जुलूस लाभार्थी चेतनकुमार प्रकाशचंद जैन के निवास से बैंडबाजे के साथ निकाला गया। जुलूस में मांगीलाल कोठारी, सुरेशचंद खाबिया, अशोक बावेल, दीपचंद कटारिया, मोहन जैन, संजय जैन, हुकमचंद जैन, विजय कटारिया, पारस कोठारी सहित महिला मंडल, बहुमंडल की सदस्य एवं श्रावक-श्राविकाएं उपस्थित थे।