बेटमा। माहेश्वरी महिला मंडल द्वारा रविवार को फाग उत्सव मनाया गया। उत्सव के दौरान महिलाओं ने एक-दूसरे को गुलाल लगाकर होली खेली एवं फाग गीतों पर जमकर थिरकी। उत्सव के दौरान महिलाओं को टाइटल दिए गए। आयोजन में महिलाओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। मंडल की रत्ना जाखेटिया ने बताया कि जूना बजार स्थित माहेश्वरी मंदिर पर दोपहर 3.30 बजे से आयोजित फाग उत्सव की शुरुआत महिलाओं द्वारा भगवान बांके बिहारी की प्रतिमा के साथ रंग व फूलों से होली खेलकर की। इस अवसर पर 'भागा रे-भागा रे नंदलाला, राधा ने पकड़ा रंग डाला , कान्हा पिचकारी मत मार हमारी सास लड़ेगी रे, आई फागुन की देखो बहार रसिया, ब्रज में झूला बंधा है मजेदार रसिया, केशर घोलकर रखना, कलश भराकर रखना, आएंगे श्याम प्यारे सबको बुलाकर रखना, आज बरज में होली रे रसिया आदि फाग गीतों पर महिलाएं जमकर थिरकी। इस दौरान महिलाओं को फागुन की मस्ती 12 महीने आए, रंग तरंग मौज मस्ती में जीवन सफल हो जाए, टोकरी भरी कलर से संभाल कर उठाना, मेरे कान्हा को रंग जरा धीरे से लगाना जैसे टाइटल दिए गए। संचालन मंडल की पदाधिकारी रमीला शारदा, कृष्णा बांगड व ज्योति भांगडिया ने किया। आभार रुकमणि जाखेटिया ने माना। इस अवसर पर भागवंती मालू, लीलादेवी जाजू, प्रेमा बांगड़ ,चंद्रकांता जाजू, गायत्री जाखेटिया, कृष्णा भांगड़िया, किरण तोतला आदि उपस्थित थीं।

पूर्व सैनिक अजीज खान का इंतकाल

सागौर। सेना से सेवानिवृत्त हाजी अजीज खान उर्फ अजीज मामू का शनिवार शाम को इंतकाल हो गया। वे करीम खान, सलीम खान और आजाद खान के वालिद थे। उन्हें शनिवार की रात्रि में बड़े कब्रिस्तान में दफनाया गया। उनके जनाजे में बड़ी संख्या में लोगों ने भाग लेकर खिराजे अकीदत पेश की।

ख्वाजा गरीब नवाज की छठी शरीफ मनाई

सागौर। ख्वाजा गरीब नवाज के उर्स के मौके पर मुस्लिम समाज द्वारा छठी शरीफ का आयोजन गोंदी पीर बाबा की दरगाह परिसर में अकीदतमंदों ने किया। इस अवसर पर गोंदी पीर बाबा की दरगाह पर चादर पेश कर दुआए की गईं। दुआओं और फातिहा ख्वानी के बाद छठी शरीफ का लंगर हुआ।