मुरैना। देवरी वन नाके पर डिप्टी रेंजर सूबेदार सिंह कुशवाह को ट्रैक्टर से कुचलने वाले दो आरोपितों को पुलिस ने आखिरकार पकड़ लिया। साथ ही उनकी निशानदेही पर धनेला गांव के पास ही छिपाकर रखे गए डिप्टी रेंजर को कुचलने वाले ट्रैक्टर को बरामद कर लिया। पुलिस ने सोमवार को पत्रकार वार्ता में मामले का खुलासा किया।

आपको बता दें कि 7 सितंबर को देवरीपुरी वन नाके पर दो ट्रैक्टरों से चंबल से अवैध रेत को लेकर माफिया के लोग जा रहे थे। उस समय ट्रैक्टरों के आगे पायलेटिंग करते हुए बाइक से दो आरोपित निकले। उन्होंने ट्रैक्टरों को रोकने के लिए कांटे (टायर पंचर करने वाली प्लेट) को उल्टा कर दिया। जिससे ट्रैक्टर निकल जाएं। जब उसे सीधा करने व ट्रैक्टर को रोकने डिप्टी रेंजर सूबेदार सिंह कुशवाह आगे बढ़े तो एक ट्रैक्टर चालक ने उन्हें कुचल दिया।

इसके बाद दोनों ट्रैक्टरों को लेकर माफिया के लोग निवी के रास्ते भाग गए थे। घटना के बाद पुलिस ने सोनालिका ट्रैक्टर को धनेला गांव से बरामद कर लिया था। साथ ही चारों आरोपित पुलिस ने चिह्नित कर लिया था। इसके बाद से पुलिस लगातार आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही थी। पुलिस ने बीहड़ इलाके में छिपे आरोपित देवेन्द्र और किल्ली को रविवार को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही डिप्टी रेंजर को कुचलने वाले ट्रैक्टर को बरामद कर लिया।

धनेला गांव के पास से ही बरामद हुआ ट्रैक्टर

पुलिस ने रविवार सुबह गड़ोरा गांव में दबिश दी थी। सूत्र बताते हैं कि इसी दौरान पुलिस ने एक आरोपित देवेन्द्र को दबोच लिया। इसके उसका भाई किल्ली भी पुलिस के पास आ गया। साथ ही ट्रैक्टर के बारे में भी बता दिया। ट्रैक्टर को धनेला गांव के पास ही छिपाकर रखा गया था। पुलिस ने ट्रैक्टर को बरामद कर लिया है।

अभी पकड़े गए दोनों भाई हैं आरोपित

पुलिस ने जिन आरोपितों को पकड़ा है वे दोनों भाई हैं। साथ ही पहले भी रेत से जुड़े अपराधों में शामिल रहे हैं। पुलिस ने दोनों आरोपियं को गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल पूछताछ जारी है - अनुराग सुजानिया, एएसपी, मुरैना