मुरैना। चंबल नदी के किनारे-किनारे प्रस्तावित चंबल एक्सप्रेस-वे के लिए केन्द्रीय भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से बात करेंगे। गडकरी दो दिन बाद भोपाल आने वाले हैं। यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने रजौधा में विधायक सूबेदार सिंह रजौधा की रामकथा के समापन पर कही। सांसद अनूप मिश्रा की चंबल एक्सप्रेस-वे की मांग को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि वे हर संभव प्रयास करेंगे कि चंबल एक्सप्रेस-वे बने जाए। इसके अलावा उन्होंने पहाड़गढ़ से लिखीछांज तक के लिए सड़क बनाने की भी घोषणा की। कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री रुस्तम सिंह, सांसद अनूप मिश्रा, विधायक सत्यपाल सिंह सिकरवार, मेहरबान सिंह रावत, गीता हर्षाना, अनूप भदौरिया, संध्याराय, अशोक अर्गल, अनिल गोयल सहित कई नेता मौजूद थे।

ये भी कहा सीएम ने

- मध्यप्रदेश कृषि की विकास दर में देश में सबसे आगे हैं। प्रदेश में 20 फीसदी की रफ्तार से कृषि के क्षेत्र में विकास हो रहा है।

- हर गरीब का घर हो, इसके लिए सरकार कानून भी बना रही है और इसके लिए बजट भी तय कर रहे हैं।

- प्रदेश में वर्तमान में 24 लाख लाडली लक्ष्मी हैं। इनके लिए सरकार ने 9 हजार करोड़ के प्रमाण पत्र दिए हैं। बड़े होने पर इन बच्चियों को 27 हजार करोड़ मिलेंगे।

- 12वीं की परीक्षा में 85 फीसदी से अधिक अंक लाने वालों को लैपटॉप देंगे और कॉलेज में पढ़ने वाले छात्रों को स्मार्टफोन देंगे।

- दुराचारियों को फांसी की सजा दिलाने के लिए केन्द्र सरकार से निवेदन करेंगे।

- महिलाओं को शिक्षकों की भर्ती में 50 फीसदी आरक्षण दे रहे हैं। साथ ही अतिथि शिक्षकों को भर्ती में विशेष दर्जा देंगे।

- जो छात्र 85 फीसदी अंक लाते हैं और वे इंजीनियरिंग, डॉक्टरी व मैनेजमेंट की उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं, उनकी फीस सरकार देगी।

- प्रदेश के जो छात्र प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करना चाहते हैं, उन्हें दिल्ली में कोचिंग दिलाने के लिए सरकार उनकी फीस की व्यवस्था करेगी।

- किसानों की दुर्घटना में मौत होने पर अभी तक 1 लाख दिए जाते थे, लेकिन अब 4 लाख रुपए की मदद दी जाएगी।

जौरा क्षेत्र के लिए यह दीं सौगात

- कैलारस शुगर मिल को किसी रूप में चालू करने के प्रयास करेंगे। जिससे क्षेत्र के किसानों को लाभ हो सके। चाहें पीपी मोड पर चलाना पड़े या फिर प्राइवेट स्तर पर चलाना पड़े। इसके लिए कार्रवाई चल रही है।

- कैलारस में आगामी शिक्षण सत्र से सरकारी कॉलेज खोला जाएगा। पहाड़गढ़ से लिखी छांज तक के लिए सड़क बनाई जाएगी।

- देवकक्ष गांव में प्राइमरी स्कूल, भर्रा गांव में हाईस्कूल खोला जाएगा। भखरोली गांव में बिजली का सब स्टेशन खोला जाएगा।

- सोन नदी पर स्टॉपडैम व पहाड़गढ़ के सीडकी तालाब को बनाने के लिए तकनीकी परीक्षण कराने के बाद मंजूरी दी जाएगी। साथ ही विधायक रजौधा द्वारा बताए गए गांवों में मुख्यमंत्री नलजल योजना शुरू की जाएगी।

अचानक बदला सीएम का कार्यक्रम, पहुंचे सड़क मार्ग से

मुख्यमंत्री को रजौधा हेलिकॉप्टर से पहुंचना था, लेकिन हेलिकॉप्टर व मौसम खराब होने से वे ग्वालियर से रजौधा सड़क मार्ग से पहुंचे। सड़क मार्ग से जाने की वजह से मुख्यमंत्री तय समय से करीब पौने चार घंटे देरी से रजौधा पहुंचे। उनका ग्वालियर से लेकर रजौधा तक बीच में जगह-जगह स्वागत किया गया। बानमोर में राकेश रुस्तम सिंह ने तो सुमावली में विधायक सत्यपाल सिंह सिकरवार ने स्वागत किया।

कीचड़ ज्यादा था तो खेतों से निकाला रास्ता

मुख्यमंत्री के सड़क मार्ग से रजौधा पहुंचने की सूचना मिलते ही प्रशासन सड़कों को ठीक करने में लग गया। क्योंकि रास्ता तो ठीक था, लेकिन एमएस रोड से रजौधा के बीच के गांवों में कीचड़ था। प्रशासन ने गांवों में कीचड़ वाली जगह को साफ कराया और मिट्टी व रेत डलवाया। अहरोली गांव में तो सड़क पर कीचड़ को देखते हुए गांव के बाहर से तुरंत खेतों से होकर नया रास्ता ही बना दिया।

सूबेदार ने मंच पर ही मांगों को पूरा करने मनाया सीएम को

जौरा विधायक सूबेदार सिंह रजौधा ने क्षेत्र के विकास के बिंदुओं की सूची को मंच पर मुख्यमंत्री को दी और मंच पर ही उन्होंने सीएम को सभी मांगों को पूरा करने के लिए निवेदन किया। मुख्यमंत्री ने भी उन्हें निराश नहीं किया। जितनी भी मांगें उन्होंने दी थी, उन्हें सीएम ने मंजूर करने की घोषणा कर दी। साथ ही मंच पर विधायक पुत्र सूरज रजौधा, पुष्पेन्द्र पाराशर, विजय जादौन आदि ने सीएम को बड़ा हार पहनाकर स्वागत किया।

हजारों लोगों ने लिया भंडारे में प्रसाद

विधायक सूबेदार सिंह रजौधा द्वारा आयोजित रामकथा के समापन पर आयोजित भंडारे में क्षेत्र के हजारों लोगों ने प्रसाद लिया। अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ट्रॉली में भर भरकर खीर, बूंदी, मालपुआ का वितरण किया जा रहा था। प्रसाद लेने के लिए एक बार में एक हजार से अधिक लोग एक साथ बैठ रहे थे। प्रसाद वितरण के लिए भी गांव के हिसाब से लोगों की ड्यूटी लगाई गई थी।