मुरैना। नईदुनिया प्रतिनिधि

शहर की सफाई व्यवस्था खराब है। लेकिन अब पार्षद चाहे सत्ता पक्ष के हों या विपक्ष के, कोई भी आवाज नहीं उठा रहा है। हालांकि पहले विपक्षी पार्षदों ने कई बार आंदोलन कर चुके है। अब नगरनिगम की अव्यवस्थाओं को लेकर विपक्षी पार्षद भी आवाज नहीं उठा रहे हैं। ऐसे में स्थिति का अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि पहले नगरनिगम के कांग्रेस के पार्षद काम में भेदभाव करने व उनके वार्डों में सफाई न होने को लेकर कई बार वर्कशॉप पर धरना व प्रदर्शन कर चुके हैं। साथ ही शहर के नालों में बैठकर भी आंदोलन किया है। फरवरी में स्वच्छता सर्वेक्षण होने के के बाद शहर की सफाई व्यवस्था खराब हो गई हैं। लेकिन इसके बाद से पार्षदों ने अव्यवस्थाओं को कोई आवाज नहीं उठाई है।

ये आरोप लगाते हैं विपक्षी दल के पार्षदः

- कांग्रेसी पार्षदों का आरोप है कि नगरनिगम में मेयर व सभापति ने अफसरों को आदेश देर खे हैं कि सफाई केवल भाजपा पार्षदों के वार्डों में ही होगी। साथ ही सफाई कर्मी भी भाजपा पार्षदों के वार्डों में तैनात रहेंगे। ऐसे में उनके वार्डों की सफाई व्यवस्था ठप हो गई है। वार्डों में गंदगी ही गदंगी है और जलभराव की स्थिति बन रही है।

- बारिश के बाद वार्डों में जलभराव की स्थिति बन जाती है। आलम यह होता है कि वार्डोंं की सड़कों पर दो से ढाई फीट पानी भर जाता है। इससे लोग घरों से बाहर नहीं निकल पाते।

- वर्कशॉप में पदस्थ कर्मचारी समस्या होने पर सफाई के लिए जेसीबी व अन्य वाहन सूचना देने पर उनके वार्डों में नहीं पहुंचते। ऐसे में समस्या का हल नहीं हो पाता।

कितना कचरा निकलता है रोजाना शहर में

- 87 टन कचरा निकलता है रोजानाः 1 व्यक्ति रोजाना तकरीबन 300 ग्राम कचरा करता है। चूंकि शहर की आबादी 2 लाख 90 हजार है। इस लिहाज से पूरे शहर में 87 टन कचरा रोजाना निकलता है।

- 22 टन कचरा उठता ही नहीं है शहर सेः

12 वार्ड ऐसे हैं जिनमें नगरनिगम सफाई ही नहीं करता और उसके वाहन कचरा नहीं उठाते। एक वार्ड की औसत आबादी 6 से 7 हजार है। इसलिए इन वार्डों से रोजाना औसतन 22 टन के करीब कचरा निकलता है। लेकिन यह कचरा उठाया ही नहीं जाता।

अमला है फिर भी नहीं होती सफाईः नगरनिगम के पास 6 सौ के करीब सफाई कमी हैं। साथ ही 100 से अधिक छोटे बड़े वाहन हैं। लेकिन इनका डिस्ट्रीब्यूसन सही न होने से शहर में सफाई ढंग से नहीं हो पाती।

यह स्थिति है भाजपा पार्षदों के वार्डों कीः

पार्षदों के आरोप के मुताबिक वार्ड 39 में भाजपा के प्रभावशाली पार्षद खलक सिंह हैं। इनके वार्ड में सर्वाधिक कर्मचारी है। इसी तरह शहर के वार्ड क्रमांक 16 में भाजपा के पार्षद अनिल गोयल है। साथ ही वे ननि के सभापति भी है। इनके वार्ड में भी सबसे अधिक कर्मचारी हैं।

फोटो 5ए। एमस रोड पर हाकर्स जोन के पास पड़ी गंदगी।