मुरैना। ट्रैफिक पुलिस ने बैरियर चौराहे पर जाम लगने से रोकने के लिए जौरा व धौलपुर रोड की तरफ जाने वाले वाहनों को डायवर्ट कर रेस्टहाउस के सामने से निकाला जा रहा है। ट्रैफिक पुलिस के इस निर्णय से रेस्टहाउस के सामने न केवल डेंजर जोन बन गया, बल्कि रोजाना दुर्घटनाएं हो रही हैं। अब इसलिए भी यहां पर परेशानी हो रही है क्योंकि हाइवे पर एनएचएआई नाला खुदवा रही है। इसलिए सर्विस लेन बंद हो गई है। इसलिए यहां जाम लग जाता है।

जाम से बचने के लिए किया है रूट डायवर्टः

बैरियर चौराहे पर ट्रैफिक पुलिस वाहनों के आवागमन को संभाल नहीं पाती। इसलिए उसने शहर से जौरा व धौलपुर वाले वाहनों को सीधे जाने से रोकने के लिए बैरिकेड्स लगा दिए हैं। जिससे वाहनों को ग्वालियर की तरफ जाकर रेस्टहाउस के सामने से मुड़ना पड़ता है। चूंकि बैरियर चौराहे से वाहन सीधे जौरा व धौलपुर के लिए मुड़ते हैं तो ग्वालियर की तरफ के वाहनों को रोकना पड़ता है, जिससे जाम लग जाता है। जाम न लगे इसलिए रूट का डायवर्ट किया गया है।

क्यों हो रही है रेस्टहाउस का गेट पर दुर्घटनाएं:

- जौरा व धौलपुर की तरफ जाने वाले वाहनों को सीधे बैरियर चौराहे से नहीं जाने दिया जाता। इन वाहनों को ग्वालियर की तरफ ले जाकर रेस्टहाउस के सामने ही मोड़ा जाता है।

- चूंकि रेस्टहाउस के सामने जैसे ही वाहन अचानक मुड़ते हैं तो ग्वालियर की तरफ से तेजी से आ रहे वाहन इन वाहनों से टकरा जाते हैं। यहां पर ट्रैफिक पुलिस या एनएचएआई ने भी किसी तरह का संकेतक नहीं लगाया है। जिससे वाहनों की गति धीमी हो जाए।

- वर्तमान में एनएचएआई हाइवे पर नाला बना रही है। ऐसे में सर्विस लेन में मलबा पड़ा हुआ है। इसलिए लोडिंग वाहन हाईवे पर खड़े हो रहे हैं। इसलिए यहां पर इन वाहनों की वजह से जाम लग रहा है।

क्या हो सकता है दुर्घटना रोकने के लिए उपायः

- बैरियर चोराहे पर शहर से जाने वाले वाहनों को सीधे जौरा व धौलपुर के लिए गुजारा जाए। केवल यहां पर पुलिस की सक्रियता होनी चाहिए।

- बैरियर चोराहे पर लेफ्ट फ्री को ठीक किया जाए और अतिक्रमण को हटाया जाए। जिससे वाहनों का आवागमन सही ढंग से हो सके।

फोटो 12ए। रेस्टहाउस के पास लगा जाम।