मुरैना। महिला बाल विकास विभाग में हुए गबन के मामले में एक कंप्यूटर संचालक औ उसके साथियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। मामला दर्ज होने के बाद भी कंप्यूटर सेंटर पर कार्रवाई नहीं की गई है। बताया जाता है कि यदि कंप्यूटर सेंटर पर दबिश दी जाए तो और भी मामले सामने आ सकते हैं। पुलिस ने तेलीपाड़ा निवासी संदीप शर्मा, जेपी शर्मा सहित चार लोगों के खिलाफ महिला बाल विकास विभाग के विभिन्ना मदों से बजट अपने खातों में ट्रांसफर कर लिए थे। मामले के सामने आने के बाद पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। हालांकि अभी तक पुलिस ने कंप्यूटर सेंटर पर कार्रवाई नहीं की है। यदि कंप्यूटर सेंटर पर कंप्यूटर के डॉटा की जांच की जाए तो अन्य विभागों के गबन के मामले भी सामने आ सकते हैं। साथ ही कंप्यूटर सेंटर पर वह स्टेशनरी भी बरामद होगी, जो केवल सरकारी दफ्तरों, खासतौर से महिला बाल विकास के कार्यालय में ही मिलती है।