मुरैना। नईदुनिया प्रतिनिधि

शादियों का सीजन शुरू हो गया है। इसी के साथ सहालग वाले दिन रात में उन सभी रोडों पर जाम लग जाता है जिन पर मैरिज हाउस संचालित होते हैं। खासबात यह है साहलग शुरू होने से पहले पुलिस व प्रशासन के अफसर मैरिज हाउस संचालकों के साथ बैठक करते हैं और पार्किंग सहित सफाई व ध्वनि विस्तारक यंत्रों के उपयोग को लेकर निर्देश देते हैं। लेकिन पूरे सहालग भर पुलिस व प्रशासन इन मैरिज हाउसों पर कार्रवाई करने जाना तो दूर उनका निरीक्षण तक नहीं करते। जिससे मैरिज हाउस संचालक निर्देशों का पालन नहीं करते और शहर के लोगों को उनकी लापवाही का शिकार होना पड़ता है।

क्यों आया मुद्दा सामनेः

सीएसपी व एसडीओपी ट्रैफिक ने बुधवार को शहर में मैरिज हाउसों को संचालित करने वालों की बैठक बुलाई। बैठक में उन्हें निर्देश दिया कि वे अपने अपने मैरिज हाउसों के सामने सड़क पर वाहन पार्क नहीं कराएंगे। वाहनों को मैरिज हाउसों के अंदर पार्क कराएंगे। साथ ही दोपहिया वाहनों में व्हीललॉक लगवाएंगे। साथ ही डीजे व अन्य ध्वनि विस्तारक यंत्रों का उपयोग सावधानी पूर्वक करेंगे। साथ ही मैरिज हाउस के आसपास गंदगी नहीं होने देंगें। बैठक में सभी मैरिज हाउस संचालकों ने निर्देशों का पालन करने की हामी भी भर दी। चूंकि हर साल पुलिस व प्रशासन के अफसर यह बैठक लेते हैं, लेकिन साहलग के दौरान स्थिति जस की तस रहती है और लोगों को आने जाने में परेशानी होती है।

क्या नियम है मैरिज हाउस संचालकों के लिएः

- मैरिज हाउस में 35 फीसदी हिस्सा वाहनों की पार्किंग के लिए छोड़ा जाएगा। कोई भी वाहन सड़क पर पार्क नहीं होगा।

- मैरिज हाउस में डीजे व अन्य ध्वनि विस्तारक यंत्र रात्रि 10 बजे के बाद नहीं बजेंगे। चूंकिवर्तमान में परीक्षाएं चल रही हैं। इसलिए अभी पूरी तरह से इन यंत्रों पर प्रतिबंध रहेगा।

- मैरिज हाउसों के पास गंदगी नहीं होनी चाहिए।

क्या करते हैं मैरिज हाउस संचालकः

कुछ मैरिज हाउसों को छोड़ दिया जाए तो किसी भी मैरिज हाउस में वाहन पार्क करने के लिए निर्धारित जगह नहीं है। ऐसे में शादी विवाह में आने वाले वाहन सड़कों पर आड़े तिरछे खड़े होते हैंऔर सड़क पर जाम लगा देते हैं। जिन मैरिज हाउसों में जगह भी है वे भी वाहनों को अंदर पार्क नहीं कराते।

- मैरिज हाउसों में डीजे व अन्य ध्वनि विस्तारक यंत्र तेज आवाज में बजाए जाते हैं। 10 बजे के बाद भी यहां पर तेज आवाज होती रहती है।

- शादी विवाह के बाद निकलने वाली गंदगी को भी मैरिज हाउस संचालक सड़क पर ही डलवा देते हैं। जिससे लोग परेशान होते रहते हैं।

ये सड़कें होती हैं जामः

- वेयरहाउस रोड व माधौपुरा रोडः वेयर हाउस व माधौपुरा रोड पर आधा दर्जन से अधिक मैरिज हाउस हैं। इसलिए जिस दिन शादियां होती हैं उस दिन वेयर हाउस रोड व माधौपुरा रोड से निकल ही नहीं सकते। आलम यह होता है किकरीब करीब एक वाहन को निकलने में एक से डेढ़ घंटे का समय लग जाता है।

- वनखंडी रोडः वनखंडी रोड पर भी एक ही मालिक के तीन मैरिज हाउस हैं। इनमें शादी के दौरान आने वाले वाहन सड़क पर खड़े कर दिए जाते हैं। जिससे सड़क पर जाम लग जाता है।

फोटो 19ए। नैनागढ़ रोड पर मैरिज हाउस के सामने लगता जाम।