इंदौर। भय्यू महाराज की श्रद्धांजलि सभा में भी बेटी कुहू और पत्नी आयुषी के बीच दूरियां नजर आईं। दोनों के बीच में एक कांग्रेस नेत्री पूरे समय बैठी रही। पत्नी के साथ ज्यादातर उनके परिजन बैठे थे और कुहू के आसपास देशमुख परिवार के लोग नजर आए। सेवादार विनायक अंतिम पंक्ति में बैठा रहा।

भय्यू महाराज की श्रद्धांजलि सभा ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर स्थित नक्षत्र गार्डन में गुरुवार शाम 5 बजे आयोजित हुई। मां-बेटी एक मंच पर होने के बावजूद भी दूर ही बैठीं। इस बीच कांग्रेस नेत्री शोभा ओझा दोनों के बीच में बैठीं। सभा के दौरान भी किसी ने एक-दूसरे से बात नहीं की। सभा में भी अलग-अलग गाड़ियों से आईं और वापसी भी अपनी गाड़ियों में हुई। सभा में सैकड़ों की संख्या वीआईपी, संत महात्मा सहित अन्य कई लोग श्रद्धांजलि देने पहुंचे। मालूम हो, भय्यू महाराज ने 12 जून को गोली मार कर आत्महत्या कर ली थी। गुरुवार को उनकी अस्थियों का विसर्जन नर्मदा में किया गया। सेवादारों का कहना है कि अस्थियां देशभर की 10 मुख्य नदियों में भी प्रवाहित की जाएगी।

15 मिनट देरी से आई आयुषी

श्रद्धांजलि सभा में सबसे पहले भय्यू महाराज की बेटी कुहू पहुंची और उसने पिता को श्रद्धांजलि दी। 15 मिनट बाद आयुषी आई, लेकिन पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद बेटी कुहू से कुछ दूर बैठ गई। लगभग 1 घंटे चली सभा में भी किसी ने बात नहीं की।

बात करना चाही तो परिजन ने खींचा हाथ

सभा खत्म होने के बाद जब कुहू और विनायक से मीडिया ने बात करना चाही तो वे रुके, लेकिन कुहू को उनकी सहेलियों व विनायक को अन्य सेवादारों ने हाथ खींचकर गाड़ी में बैठा दिया। इस बीच आयुषी से भी बात करना चाही लेकिन वो चुपचाप गाड़ी में बैठकर चली गईं।

इन्होंने दी श्रद्धांजलि

श्रद्धांजलि सभा में मंत्री लालसिंह आर्य, विधायक रमेश मेंदोला, आईडीए अध्यक्ष शंकर लालवानी, काली महाराज, कृपाशंकर शुक्ला, आशा विजयवर्गीय, पीके शुक्ला, कैलाश शर्मा, चंदू शिंदे, विनिता धर्म, सूरज केरो, पूजा पाटीदार सहित अन्य लोग शामिल हुए।