ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

प्रतिभाशाली विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना के तहत प्रदेशभर में बोर्ड परीक्षा में 85 प्रतिशत अंक लाने वाले सामान्य और ओबीसी श्रेणियों के छात्रों एवं 75 प्रतिशत अंक लाने वाले अनुसूचित जाति एवं जनजाति के 2813 छात्रों को बैंक खातों सहित अन्य कागजी कार्रवाई में कमी रह जाने के कारण लैपटॉप नहीं मिल सके हैं। योजना से वंचित रह गए 2813 छात्रों को लैपटॉप मिल सके इसके लिए सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को आदेश दिया गया है कि वह 15 अगस्त तक सभी बच्चों के खातों एवं कागजों को अपडेट कर भोपाल भेंजे।

मध्यप्रदेश में बोर्ड परीक्षा में सामान्य व ओबीसी छात्रों की श्रेणी के छात्रों के 85 व उससे अधिक अंक लाने वाले एवं अनुसूचित जाति एवं जनजाति के छात्र जो 75 प्रतिशत या उससे अधिक अंक लेकर पास हुए हैं उन्हें लैपटॉप वितरित किए गए हैं। प्रदेश में वर्ष 2017-18 में 67615 छात्र इस योजना में शामिल हुए थे। लेकिन इनमें से इस योजना का लाभ 64802 छात्रों को ही मिल सका। जबकि 2813 छात्र इस योजना का लाभ पाने से वंचित रह गए। वंचित रह गए छात्रों को लाभ दिया जा सके इसके लिए लोक शिक्षण संचनालय के संयुक्त संचालक ने विगत दिनों आदेश जारी किया है। इस आदेश में उन्होंने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों से कहा है कि 2813 छात्रों के खातों में कमियां रह जाने एवं कई छात्रों के दस्तावेजों में कमियां रह जाने के कारण उनके खातों में लैपटॉप की राशि नहीं पहुंचा सके हैं। वहीं कई विद्यालयों के परीक्षा परिणाम भी बाद में जारी किए गए हैं इसलिए शेष छात्रों के खातों को ठीक कर उन्हें भेजे।

वर्जन

लोक शिक्षण संचनालय से आदेश आया है, सभी जिला शिक्षा अधिकारी अपने-अपने विद्यालयों में शेष रहे छात्रों के खातों सहित अन्य दस्तावेजों को भेज रहे हैं। वहीं हमारे यहां भी जो छात्र शेष रह गए हैं हम उनके दस्तावेजों को भेज रहे हैं।

ममता चतुर्वेदी, प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी