नोटः समाचार के फोटो भी है। बनने के लिए मेल पर डाल दिए हैं।

----------------------------------------

ग्वालियर,नईदुनिया प्रतिनिधि। चार्टों में हो रहे फर्जीवाड़े को रोकने कुलपति के निर्देश पर चार्टों का बंटवारा तो किया जा रहा है,लेकिन उन्हें ढ़ेर के रूप में लाकर इस तरह पटका जा रहा है कि आने वाले समय में छात्र परेशान हो जाएंगे। परीक्षा सेक्शन में इन्हें यूपीसी के साथ मिला दिया गया है।

पोस्ट बेसिक नर्सिंग के चार्ट में पकड़े गए फर्जीवाड़े को देखने के बाद कुलपति प्रो.संगीता शुक्ला ने निर्देश दिए थे कि वर्ष 2012 से पूर्व के चार्ट स्ट्रांग रूम में रखवा दिए जाएं और उसके बाद के चार्ट परीक्षा व गोपनीय सेक्शन में अलग-अलग रखवा दिए जाएं। इस व्यवस्था के पीछे गरज यही थी कि दोनों चार्ट एक ही स्थान पर होने से कोई कर्मचारी एक साथ इन चार्टों में कोई करेक्शन नहीं कर सके। कुलपति के इस निर्देश के पालन में दो दिन से चार्टों का बंटवारा हो रहा है। रविवार को भी चार्टों के बंटवारे का काम जारी रहा। खास बात यह रही कि गोपनीय शाखा से जो चार्ट परीक्षा शाखा में पहुंचवाए जाने से पहले कोई व्यवस्था नहीं की गई। यही कारण है कि चार्टों को गोपनीय विभाग से लाकर ढेर में पटक दिया गया है। इन चार्टों को व्यववस्थित न रखते हुए उपलब्ध स्थान पर रखा जा रहा है।

यह होगी परेशानी

यदि परीक्षा व गोपनीय के चार्टों को अभी व्यवस्थित नहीं रखा गया तो आने वाले समय में जब भी कोई छात्र करेक्शन के लिए आवेदन करेगा,इन चार्टों की खोजबीन में अधिक समय लगेगा। किसी चार्ट के यूपीसी व अन्य चार्टों के ढेर में दब जाने की संभावना भी बनी रहेगी।