ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

अवाड़पुरा में शनिवार की रात को महिला ने आत्महत्या करने के इरादे से सल्फास की गोलियां खा लीं। महिला की रविवार तड़के अस्पताल में मौत हो गई। मृतका के माता-पिता का आरोप है कि बेटी नूरजहां को पति मायके की संपत्ति से हिस्सा मांगने के लिए कई दिनों से प्रताड़ित कर रहा था। मायके पक्ष का कहना है कि नूरजहां के पास सल्फास कहां से आया। कंपू थाना पुलिस ने महिला के आत्महत्या करने का कारण पता लगाने के लिए जांच शुरू कर दी है।

जिला मुरैना के माता बसैया निवासी शाहिद मोहम्मद फर्नीचर का काम करता है। उसकी पत्नी नूरजहां का मायका भी इसी गांव में है। कामधंधे के कारण वह पत्नी नूरजहां व दो बच्चों के साथ ग्वालियर में अवाड़पुरा की पहाड़िया पर बस गया है। शनिवार की रात को नूरजहां की अचानक हालत बिगड़ गई। उसे इलाज के लिए जेएएच के आईसीयू में भर्ती कराया गया। रविवार की तड़के तीन बजे के लगभग नूरजहां की मौत हो गई। पुलिस ने अस्पताल की सूचना पर शव को पीएम के लिए डेड हाउस पहुंचाया। रविवार की सुबह नायब तहसीलदार की मौजूदगी में शव का पीएम कराया गया।

मकान में हिस्सा मांग रहा था पति

नूरजहां के मायके में पिता जमालउद्दीन व मां फातिमा उर्फ बुनियादी व कमलोद्दीन हैं। मृतका के भाई ने बताया कि शाहिद शादी के बाद से उसकी बहन को पीटता था और पिता की संपत्ति में हिस्सा मांगने के लिए प्रताड़ित करता था। भाई ने सवाल किया कि उसकी बहन सब्जी लेने तक के लिए बाजार नहीं जाती थी। फिर उसके पास सल्फास कहां से आया। नूरजहां की हालत बिगड़ने के बाद उसके पति ने सीधे उन्हें सूचना नहीं दी। नूरजहां की तबियत खराब होने की सूचना शाहिद के ताऊ के लड़के ने दी। हम लोग रात को ही अस्पताल आ गए।

इधर खाना बनाते समय आग से झुलसी महिला की मौत

खल्लासीपुरा शिंदे की छावनी निवासी दीपक कुशवाह की पत्नी बुधवार को खाना बनाते समय आग की लपटों में बुरी तरह से झुलस गई थी। चार दिन से उसका अस्पताल में इलाज चल रहा था। शनिवार की रात को कोमल की मौत हो गई। कोमल व दीपक की पांच साल पहले शादी हुई थी, उनकी कोई संतान नहीं थी। मृत्युपूर्व दिए बयानों में भी कोमल ने महिला एसडीएम को बताया था कि वह खाना बनाते समय आग से झुलस गई थी। मृतका के बड़े भाई का कहना है कि उनकी बहन को ससुराल में कोई परेशानी नहीं थी। उसके बयान भी हमारे सामने हुए थे। इंदरगंज थाना पुलिस ने नायब तहसीलदार की मौजूदगी में पीएम कराने के बाद अंतिम संस्कार के लिए शव परिजनों को सौंप दिया। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है।