ग्वालियर नईदुनिया प्रतिनिधि

सावन के तीसरे सोमवार को हरियाली अमावस्या मनाई जाएगी। सावन के तीसरे सोमवार को हरियाली अमावस्या 13 साल पहले मनाई गई थी।

ज्योतिषाचार्य पं. सतीश सोनी के अनुसार सावन के तीसरे सोमवार के साथ पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में हरियाली तीज आने से विवाहित महिलाएं एवं कन्याएं के लिए बेहद खास रहेगा। विवाहिता महिलाएं के लिए हरियाली अमावस्या पर मॉ गौरी का पूजन करेंगी पं. सतीश सोनी के अनुसार ऐसी मान्यता है कि आज ही के दिन मॉ गौरी देवाधिदेव महादेव से मिली थी। नवविवाहिता अपने पीहर में आकर यह त्यौहार मनाती हैं।