डबरा/बिलौआ। नईदुनिया प्रतिनिधि

इन दिनों डबरा शहर में पेयजल संकट छाया हुआ है। वार्डों में लगे हैंडपंप खराब हो गए हैं और लोगों को दूरदराज से पानी लाना पड़ रहा है। शहर में मंगलवार को पाइप लाइन फूटने से पेयजल सप्लाई नहीं हुई और पानी के लिए लोगों को हैंडपंपों का सहारा लेना पडा। हालांकि शहर के कुछ वार्डों में नगर पालिका की ओर से टैंकरों से पानी का वितरण कराया गया।

उल्लेखनीय है कि गर्मी के दिनों में शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल संकट छा जाता है। इसके लिए अभी तक नगर पालिका की ओर से ऐसी कोई व्यवस्था नहीं कराई गई है, जिससे पानी को सहजा जा सके। बीती रात बल्ला का डेरा के समीप पाइप लाइन फूट जाने के चलते मंगलवार को शहर में पानी की सप्लाई नहीं हुई। इस कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। हालांकि नपा सीएमओ पीके सिंह का कहना है कि जिन जगहों पर पानी नहीं पहुंचा है, वहां पर टैंकरों से पानी की सप्लाई कराई गई है। ग्रामीण क्षेत्रों में पानी के टैंकर नहीं पहुंचने से लोगों में आक्रोश है।

वाहनों में भरकर ला रहे पानी

शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों की बात करें, तो यहां पर लोग अपने-अपने वाहनों में प्लास्टिक की टंकी रखकर खेतों में लगी मोटरों से उसे भरकर पानी को घर पर ला रहे है। शहर के जवाहर कॉलोनी, अम्बेडकर कॉलोनी, पिछोर तिराहे आदि ऐसी जगह है, जहां पर रहने वाले लोग सुबह-सुबह ही ठेलों पर बर्तन रखकर पानी भरकर लाते हैं। इस ओर नगर पालिका का कोई ध्यान नहीं है।

बिलौआ में अधिकांश हैंडपंप खराब, लोग परेशान

बिलौआ में अधिकांश हैंडपंप खराब हो चुके है। इस कारण यहां के लोग दूर दराज पानी वाहनों में भरकर ला रहे है। इसके अलावा कुछ लोग वार्डों में लगी बोरिंग से पानी भरकर काम चला रहे हैं। खराब हैंडपंपों को दुरुस्त कराने के लिए स्थानीय रहवासियों द्वारा कई बार शिकयत की जा चुकी है, लेकिन अभी तक उसकी सुनवाई नहीं हुई है। इस संबंध में नगर परिषद अध्यक्ष सुनील चौरसिया ने बताया कि पानी की समस्या गंभीर है। इसके लिए लोगों को भी जागरुक किया जा रहा है कि वह पानी व्यर्थ नहीं फैलाए। इसके अलावा यदि हैंडपंप खराब है तो उन्हें जल्द ही दुरुस्त करा लिया जाएगा, ताकि कस्बे के लोगों को पानी मिल सके।