खंडवा। ओंकारेश्वर के पास स्थित ग्राम कोठी में दो होटल और एक गेस्ट हाऊस में अनियमितता मिली। परिचय पत्र, आधार कार्ड लिए बिना है युवक-युवती व अन्य मुसाफिरों को ठहराया गया था। तीनों होटल और गेस्ट हाऊस संचालक पर केस दर्ज किया गया। आरोपितों को गिरफ्तार कर थाने से जमानत पर छोड़ा।

होटल और गेस्ट हाऊस को लेकर कलेक्टर ने एक आदेश जारी किया हुआ है। इस आदेश के तहत अपने यहां ठहरने वाले मुसाफिरों की जानकारी रजिस्टर में नोट करने के साथ ही उनकी पहचान के लिए परिचय पत्र या आधार कार्ड की फोटो कॉपी लेना अनिवार्य है।

उनके इस आदेश का होटल और गेस्ट हाऊस संचालकों के द्वारा पालन नहीं किया जा रहा है। इसको लेकर मांधाता टीआई जगदीश पाटीदार ने एएसआई नानूराम वर्मा व पुलिसकर्मियों के साथ ओंकारेश्वर के पास स्थित ग्राम कोठी में दबिश दी।

यहां ओंकारेश्वर मार्ग पर यादव गेस्ट हाऊस का रिकार्ड चेक किया गया। रजिस्टर में यहां ठहरने वाले अधिकांश लोगों की पूरी जानकारी नहीं थी। आधार कार्ड और परिचय पत्र की फोटो कापी भी नहीं मिली। पुलिस ने कमरों में जाकर तलाशी भी ली। यहां युवक-युवती और अन्य मुसाफिर भी मिले। इन्हें पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया।

यादव गेस्ट हाउस के संचालक हरिराम रामाचरण यादव को गिरफ्तार कर लिया गया। इसी तरह से जयश्री होटल पर भी अनियमितता मिली। यहां भी होटल संचालक बुद्धदेव राय कलेक्टर के आदेश की अवहेलना करते हुए मिला। राय को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। तीसरी कार्रवाई लक्ष्मी पैलेस होटल पर की गई।

होटल के रजिस्टर में यहां ठहरने वालों का रिकॉर्ड नहीं था। होटल के मालिक मंशाराम रामलाल वर्मा को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। एएसआई वर्मा ने बताया कि कलेक्टर के आदेश की अवहेलना करने पर दोनों होटल और गेस्ट हाऊस के संचालक पर धारा 184, 186 में केस दर्ज किया गया है। जमानती अपराध होने से तीनों को जमानत पर छोड़ दिया गया।