धीरज गोमे, उज्जैन, उज्जैन। मलखंभ की पहली वर्ल्ड चैंपियनशिप 2019 के लिए टीम इंडिया की घोषणा बुधवार को कर दी गई। टीम में एक चपरासी के बेटे और ड्राइवर की बेटी ने जगह बनाई है।

नाम राजीवसिंह पंवार और पूजा मालवीय हैं। दोनों ही होनहार खिलाड़ी हैं, जिनसे भारत को उम्दा प्रदर्शन की उम्मीद है।

16 फरवरी से मुंबई में मलखंभ की पहली वर्ल्ड चैम्पियनशिप होने वाली है। इसके लिए भारतीय टीम का चयन हैदराबाद में एक सिलेक्शन कैम्प के जरिये किया गया। देश के टॉप 18 खिलाड़ियों में से 6 पुस्र्ष और 6 महिलाएं चुनी गईं।

पुस्र्ष टीम में उज्जैन के 21 वर्षीय राजवीरसिंह पंवार का भी चयन किया गया है, जो पखवाड़े पहले ही प्यून के पद से सेवानिवृत्त राजेंद्रसिंह पंवार के पुत्र हैं। राजवीर, बीए ऑनर्स की पढ़ाई कर रहे हैं। परिवार में उनसे बड़ा एक भाई और दो बहने हैं। परिवार की माली हालत कमजोर है। वहीं महिला टीम में उज्जैन की ही पूजा मालवीय का चयन भी हुआ है। वे नगर निगम में पदस्थ वाहन चालक बद्रीलाल मालवीय की बेटी हैं।

पूजा तीन नेशनल गोल्ड मेडलिस्ट है। वे बीई करने के बाद अब प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रही हैं। पिता बद्रीलाल अपनी बेटी की उपलब्ध्ाियों से काफी हर्षित हैं। उनका बेटा अनिल सरकार से 50 लाख स्र्पए की स्कॉलरशिप प्राप्त कर विदेश में पढ़ाई कर रहा है।

स्टैंडबॉय में भी उज्जैन के दो खिलाड़ी

टीम इंडिया में स्टैंडबॉय के रूप में उज्जैन के ही विक्रम अवार्डी चंद्रशेखर चौहान और खाचरौद की पूजा मंडालिया का चयन किया गया है। फाइनल टीम में शामिल खिलाड़ी के किसी वजह से न खेल पाने पर इनका उपयोग टीम में लिया जाएगा।

बॉक्स

15 देशों के बीच होगा मुकाबला

मलखंभ फेडरेशन की ओर से हो रही चैम्पियनशिप में जर्मनी, बांग्लादेश, मलेशिया, सिंगापुर, जापान, वियतनाम, फ्रांस, यूएसए, ईरान, ईटली सहित 15 देशों की टीम प्रतिभागिता करेगी। प्रतियोगिताएं दो दिन चलेंगीं।

विश्वामित्र अवार्डी मालवीय टीम इंडिया के कोच

उज्जैन के ही विश्वामित्र अवार्डी योगेश मालवीय को टीम इंडिया का कोच बनाया गया है। योगेश एक ऐसे खिलाड़ी और प्रशिक्षक हैं, जिन्होंने उज्जैन से मलखंभ के न केवल कई नेशनल खिलाड़ी बल्कि प्रशिक्षक भी तैयार किए हैं। इनमें विश्वामित्र अवार्डी तस्र्णा चावरे, विक्रम अवॉर्डी पंकज सोनी और चंद्रशेखर चौहान का नाम शामिल है।