Naidunia
    Sunday, December 17, 2017
    PreviousNext

    पथराव करने वाले होंगे जिलाबदर, संवेदनशील क्षेत्रों में पुलिस तैनात

    Published: Fri, 08 Dec 2017 04:00 AM (IST) | Updated: Fri, 08 Dec 2017 05:21 PM (IST)
    By: Editorial Team
    police in ujn mp 2017128 172142 08 12 2017

    उज्जैन। शौर्य यात्रा के दौरान बुधवार को पथराव करने वाले बदमाशों पर जिलाबदर की कार्रवाई की जाएगी। रात को गिरफ्तार हुए तीन बदमाशों को कोर्ट ने जेल भेज दिया है। उधर, पुलिस ने वीडियो फुटेज के आधार पर एक दर्जन से अधिक आरोपियों की पहचान की है। जल्द ही इन्हें भी गिरफ्तार किया जाएगा। तनाव को देखते हुए शहर के महत्वपूर्ण स्थानों पर पुलिस बल तैनात किया है। इसके अलावा तोपखाना सहित संवेदनशील क्षेत्रों में अलग से पेट्रोलिंग करवाई जा रही है।

    हिंदूवादी संगठनों ने 6 दिसंबर के मद्देनजर शाम 4 बजे चामुंडा माता चौराहे से शौर्य यात्रा निकाली थी। यात्रा देवासगेट व मालीपुरा होते हुए तोपखाना पहुंची। यात्रा में शामिल कुछ सदस्य नारेबाजी कर रहे थे। तोपखाने में एक बदमाश ने यात्रा में शामिल लोगों के साथ मारपीट की थी। इससे तनाव बढ़ गया और पथराव शुरू हो गया था। पुलिस ने लाठी भांज और अश्रुगैस के गोले छोड़कर भीड़ को नियंत्रित किया था।

    घटना में 7 लोगों को चोट आई थी। इनमें एसएएफ इंदौर की 15वीं बटालियन का सिपाही नरेंद्र मेवाड़ा पिता जगदीश (27) भी घायल हुआ था। रात को ही पुलिस ने नागौरी मोहल्ला निवासी अब्दुल खलीद पिता अब्दुल वाहिद नागौरी व उसके दो भाई अब्दुल मलिक, अब्दुल रशीद नागौरी को गिरफ्तार कर लिया था। गुरुवार को तीनों को कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उन्हें जेल भेजने के आदेश जारी हो गए।

    एएसपी बोले- दोनों पक्षों से पहले ही की थी बात, फिर भी पुलिस रही सतर्क

    एएसपी नीरज पांडेय के अनुसार यात्रा पर पथराव करने के मामले में फुटेज देखकर बदमाशों की पहचान की जा रही है। पथराव करने वाले बदमाशों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। सभी को जिलाबदर किया जाएगा। तनाव को देखते हुए तोपखाना सहित अन्य संवेदनशील क्षेत्रों में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। इसके अलावा अलग से पेट्रोलिंग भी की जा रही है। एएसपी पांडेय के अनुसार यात्रा को तोपखाना क्षेत्र से निकालने पर सवाल उठ रहे हैं। जबकि इसे लेकर दोनों पक्षों से दो-दो बार बात कर सहमति बनाई गई थी।

    इसमें आश्वासन दिया गया था कि कोई गड़बड़ नहीं होगी। इसके बाद ही यात्रा की अनुमति दी गई थी। हालांकि फिर भी पुलिस सर्तक थी। यही कारण है कि पथराव होने के कारण स्थिति जैसे ही तनाव पूर्ण हुई तत्काल काबू कर लिया गया।

    दो टीआई को किया बहाल

    गुरुवार को एसपी सचिन अतुलकर ने दो निलंबित टीआई को बहाल किया है। माधवनगर के निलंबित टीआई एमएस परमार को बहाल कर महाकाल व नीलगंगा के टीआई ओपी अहिर को नानाखेड़ा थाने पर पदस्थ किया गया है। महाकाल टीआई अजित तिवारी के स्थानांतरण के बाद से ही थाने पर टीआई नहीं थे। तनाव को देखते हुए टीआई परमार को भेजा गया है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें