Naidunia
    Monday, December 18, 2017
    PreviousNext

    महिला सीएसपी और दो टीआई के संरक्षण में चलता था देहव्यापार

    Published: Thu, 07 Dec 2017 06:05 PM (IST) | Updated: Fri, 08 Dec 2017 11:41 AM (IST)
    By: Editorial Team
    women csp in crime 2017128 114058 07 12 2017

    इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। स्पा की आड़ में चल रहा देहव्यापार तत्कालीन महिला सीएसपी और दो थाना प्रभारियों के संरक्षण में चलता था। छोटे पुलिसकर्मियों द्वारा स्पा की जांच करने पर सीनियर अधिकारी उन्हें कॉल कर धमकाते थे। यह खुलासा सीएसपी की जांच रिपोर्ट में हुआ है। रिपोर्ट आने के बाद डीआईजी ने निलंबित एएसआई और सिपाहियों को बहाल कर दिया। उन्होंने बयान में भी तीनों अफसरों पर धमकाने का आरोप लगाया है।

    वाकया तुकोगंज थाना क्षेत्र स्थित वेस्टरन कॉर्पोरेट (न्यू पलासिया) का है। क्राइम ब्रांच ने 9 अक्टूबर को इमारत में दबिश देकर डिजायर थाई स्पा से लड़के-लड़कियों और ग्राहकों को गिरफ्तार किया था। संचालक गणेश राठौर ने अफसरों को बताया कि वह पुलिस से सांठगांठ कर स्पा की आड़ में देहव्यापार चला रहा था। राठौर ने बीट प्रभारी एमरकस टोप्पो, सिपाही सचिन शर्मा, रामकृष्ण व रामप्रसाद पर रुपए लेने का आरोप लगाया।

    नाराज अफसरों ने चारों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर कोतवाली सीएसपी बीपीएस परिहार को जांच सौंप दी। सीएसपी ने सभी पुलिसकर्मियों के बयान लिए तो उन्होंने तत्कालीन महिला सीएसपी और टीआई पर देह व्यापार को प्रश्रय देने का आरोप लगाया। एएसआई व सिपाही ने कहा कि स्पा की चेकिंग करने पर दोनों अफसर कॉल कर धमकाते थे। सीएसपी की रिपोर्ट के बाद डीआईजी ने निलंबित पुलिसकर्मियों बहाल कर दिया।

    बड़े अफसरों को मालूम है, तुम वहां जांच मत करो

    एएसआई टोप्पो ने कहा कि स्पा में देहव्यापार की सूचना पर 22 जुलाई 2016 को सिपाही सचिन के साथ स्पा की जांच करने गया था। कुछ देर बाद ही तत्कालीन टीआई और सीएसपी का कॉल आया। उन्होंने कहा था कि नीचे से लेकर ऊपर तक सभी अफसरों को जानकारी है। आज के बाद वहां मत जाना। एएसआई ने संचालक को थाने पर तलब भी किया था, लेकिन वरिष्ठ अफसरों का सहयोग नहीं मिलने पर उसे रवाना करना पड़ा।

    सिपाही सचिन ने भी तत्कालीन टीआई पर धमकाने का आरोप लगाया है। उसने बताया कि स्पा के बारे में तत्कालीन टीआई और वर्तमान टीआई को अवगत कराया था। चेकिंग से नाराज टीआई ने उसे थाने बुलाया और रीगल चौराहा पर ड्यूटी लगा दी थी। पुलिसकर्मियों ने अफसरों से कहा कि इस मामले में तत्कालीन टीआई और सीएसपी(रिटायर्ड) से भी पूछताछ करना चाहिए।

    रिपोर्ट अफसरों को सौंप दी

    पुलिसकर्मियों ने वरिष्ठ अधिकारियों का नाम लिया था। मामले की रिपोर्ट अफसरों के सामने प्रस्तुत कर दी है। - बीपीएस परिहार, सीएसपी कोतवाली

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें