ब्यावरा(राजगढ़)। ब्यावरा में मंगलवार-बुधवार की रात एक शादी में अनूठा नजारा दिखा। घायल शादी की रस्मों के लिए घायल दूल्हे को व्हीलचेयर पर बैठाकर लाया गया। इसी स्थिति में दुल्हन ने उसके साथ सात फेरे लिए।

जानकारी के अनुसार ब्यावरा निवासी दिलीप सक्सेना की शादी विदिशा निवासी दीप्ति के साथ 11 जून को हुई है। शादी से पहले 6 जून को दिलीप कार्ड बांटने गया था। तभी खिलचीपुर क्षेत्र में बाइक फिसलने के कारण वह घायल हो गया था। उसे गंभीर हालत में भोपाल रेफर किया था।

वह अभी चलने की स्थिति में नहीं है। इसलिए 10 जून को परिजन एंबुलेंस से उसे ब्यावरा लेकर आए। यहां सभी रस्मों के लिए उसे व्हीलचेयर पर बैठाकर लाया गया। वरमाला के लिए दोस्तों ने व्हीलचेयर सहित उठाकर स्टेज पर पहुंचाया।

वहीं वरमाला के बाद दिलीप को व्हीलचेयर पर ही मंडप तक ले गए। इसी स्थिति में उसने शादी की अन्य रस्में पूरी कीं। व्हीलचेयर पर बैठकर ही उसने दुल्हन दीप्ति के साथ सात फेरे लिए। फेरों के दौरान जब दीप्ति आगे रही, तब दोस्तों ने व्हीलचेयर धकाई। जब दीप्ति पीछे हुई, तो उसने खुद व्हीलचेयर धकाई।

व्हीलचेयर को बनवाया सुविधाजनक

दिलीप के दाएं पैर में फ्रेक्चर है। डॉक्टर ने दिलीप को हिदायत दी थी कि पैर बिल्कुल सीधा रखना है। ऐसे में उसके लिए लाई गई व्हीलचेयर में मैकेनिक की मदद से एक लोहे की प्लेट लगवाई गई, जिस पर उसका पैर सीधा रहे। जब दिलीप को एक स्थान से दूसरे स्थान जाने की जरूरत पड़ती, तो उसके दोस्त पूरी व्हीलचेयर सहित उसे उठाकर ले जाते, ताकि पैर न हिले।